Relational Algebra in hindi

Relational algebra:-

Relational algebra, operations का एक समूह होता है जिसका प्रयोग relations से data को manipulate करने के लिए किया जाता है। Relational algebra एक procedural language है। इसमें operators का प्रयोग queries को perform करने के लिए किया जाता है और यह DBMS में प्रयुक्त होने वाली intermediate language है।

Relational Algebra में निम्नलिखित operators होते है:-
1. Union(U)
2. Difference(–)
3. Selection (σ)
4. Projection (∏)
5. Cartesian Product(X)
6. Intersection(∩)
7.Rename(ρ)
8.Join

1. Union(U):- union operator को U symbol द्वारा दर्शाया जाता है।
इसका syntax निम्नलिखित है।
[R=P U Q]
जहां P और Q दो इनपुट रिलेशन है और R आउटपुट रिलेशन है।

यूनियन ऑपरेशन में दो input relation होते है जो कि union compatible हों। इस operation का output relation उन tuples(rows) को contain करते है जो कि relation 1 और relation 2 में हो अथवा दोनों में हो और जो duplicate tuples होते है उन tuples को eliminate कर दिया जाता है।

image

2. Difference(–):- Difference operator को – symbol द्वारा दर्शाया जाता है। इसका syntax निम्नलिखित है:-
[ R=P–Q]

Difference operation, relation 1 में स्थित common tuples को हटा देता है। हमारे जो output आएगा वह relation 1 में स्थित tuples होंगे जो कि relation 2 में न हो। हम इसे निम्न चित्र के द्वारा आसानी से समझ सकते हैं।

image

3. Selection (σ):- इस operator को σ(सिग्मा) symbol द्वारा दर्शाया जाता है। इस operator का प्रयोग tuples को select करने के लिए किया जाता है जो कि दी हुई condition को satisfy करती है। यह operation  एक unary operation हैं जो सिर्फ एक ही relation या table में define होता है।

4. Projection (∏):- इस operation को ∏(pi) चिन्ह् द्वारा दर्शाया जाता है। यह एक unary ऑपरेशन है अर्थात इसमें सिर्फ एक relation होता है।
Projection operator का प्रयोग एक relation में से attributes के subset(उपसमुच्चय) को select करने के लिया जाता है और जिन attributes को सेलेक्ट नही किया जाता है उनको eliminate कर दिया जाता है।

5.Cartesian Product(X):- इस ऑपरेटर को X चिन्ह् द्वारा दर्शाया जाता है। इसका syntax निम्न है:-
[R=P X Q].
इस ऑपरेटर का प्रयोग दो विभिन्न relations की सूचनाओं को एक relation में सम्मिलित करने के लिए किया जाता है।

image

6. Intersection(∩):- इस ऑपरेटर को ∩ चिन्ह् द्वारा दर्शाया जाता है। इस ऑपरेटर का प्रयोग दो relations में से common tuples को select करने के लिए किया जाता है। इसका syntax निम्न है:-
[R=P∩Q].

image

7.Rename(ρ):- Rename operator को ρ(rho) चिन्ह् से दर्शाया जाता है। इस ऑपरेटर का प्रयोग relation को दुबारा नाम देने के लिए किया जाता है।

9. join:- यह ऑपरेटर दो relations को एक नए relations में combine करता है।
join operator निम्नलिखित प्रकार के होते है:-
1. Theta(θ) Join
2. Left Outer Join
3. Right Outer Join
4. Full Outer Join
5. Natural Join ( )

निवेदन:- आपको ये पोस्ट कैसी लगी आप हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य बतायें। हमें आपके कमेंट्स का बेसब्री से इन्तजार रहता है। अगर आपके कोई सवाल या कोई topics है तो हमें बतायें हम उसको एक या दो दिन के अंदर यहाँ प्रकाशित करेंगे और हाँ पोस्ट शेयर जरूर करें।

20 thoughts on “Relational Algebra in hindi”

    1. कमेंट क् लिए धन्यवाद tasouwer जी। हमें ख़ुशी है किआप को यह पोस्ट पसंद आयी ttha आप इससे संतुष्ट ह।ै

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *