characteristics of MIS in hindi

MIS characteristics in hindi:- (एमआईएस की विशेषतायें)

जैसा कि हम MIS क्या है इसको पहले ही पढ़ चुके है आज हम इसकी MIS characteristics (विशेषताओं) के बारे में पढेंगे तो चलिए शुरू करते है.

MIS का मुख्य मकसद organisation के decision makers को decision लेने में मदद करना है. जिससे कि organisation अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकें. MIS की कुछ निश्चित विशेषताएं होती है. वैसे MIS समय के साथ साथ बदलते रहता है परन्तु इसकी कुछ ऐसी विशेषतायें होती है जो नियत रहती है.

तो चलिए इसकी कुछ मुख्य MIS characteristics (विशेषताओं) को पढ़ते है जो MIS में होनी चाहिए.

1:- Accurate:- MIS की सूचना जो है वह एकदम सही तथा विश्वसनीय होनी चाहिए. क्योंकि अगर इसकी सूचना ही गलत होगी तो इससे हमें परिणाम भी गलत ही मिलेंगे. उदाहरण के लिए अगर हमने sales में टैक्स को include नहीं किया है तो बाद में जो हमें refund मिलेगा वह accurate तथा reliable नहीं होगा.

2:- Relevant:- मैनेजर द्वारा MIS से प्राप्त हुई सूचना को decision makers द्वारा लिए गये decision से सम्बन्धित होना चाहिए.

अर्थात कहने का मतलब यह है कि MIS की सूचना relevant (उचित) होनी चाहिए जो decision makers की decision making से सम्बन्धित हो.

MIS प्रत्येक परिस्तिथियों को analyze करके तथा विभिन्न मैनेजरों के analysis को ध्यान में रखते हुई सूचना को प्रदान करने वाला होना चाहिए. अगर MIS relevant ही नहीं हुआ तो वह व्यर्थ है.MIS characteristics

3:- complete:- MIS को complete होना चाहिए अर्थात् इसमें वह सब जरुरी तथ्य (facts) होने चाहिए जिससे कि decision makers इन तथ्यों के आधार पर किसी भी परेशानी का हल निकाल सकें.

अगर कोई भी तथ्य या डेटा इसमें मौजूद नहीं होता है तो वह उस जगह को highlighted कर देता है. जिससे कि missing हुए डेटा के कारण परिणाम में कोई फर्क ना पड़ें.

अधूरी जानकारी हमेशा ही नकारात्मक प्रभाव डालती है.MIS characteristics

4:- integrative:- MIS को integrative होना चाहिए. integration के द्वारा सूचना और भी meaningful (सार्थक) हो जाती है.

जैसे दो subsystems आपस में integrate हो जाते है जिससे कि उन दोनों में मध्य जो मुख्य डेटा होता है वह पास होता है. जिससे सूचना की प्रोसेसिंग और भी ज्यादा efficient हो जाती है.

5:- timely:- MIS को punctual होना चाहिए अर्थात् सूचना को सही समय पर सही व्यक्ति को तथा सही जगह पर उपलब्ध करना चाहिए.

और जो मैनेजमेंट decisions है उन्हें एक नियत समय पर आधारित होना चाहिए.

अगर हमें नियत समय के अंदर कोई सूचना नहीं मिलती है तो इससे management decision गलत हो सकते है. इसलिए MIS को timely होना बहुत जरुरी है.MIS characteristics

6:- useful:- MIS की सूचना उपयोगी होनी चाहिये और यह तब ही सम्भव है जब इससे हम जो decision लेते है वह organisation को लाभ पहुचाते हों. अगर MIS की सूचना accurate तथा relevant है तब भी यह तभी useful होगी जब इससे लिए जाने वाले निर्णय बेहतर परिणाम देते हो.

7:- cost effective:- MIS को कम लागत का होना चाहिए. अर्थात् इसे economical होना चाहिए क्योंकि अगर जो solution है अगर वह problem से ज्यादा महंगा है तो उसका नुकसान ही है फायदा नहीं.

8:- brief:- MIS की सूचना संक्षिप्त होनी चाहिये क्योंकि अगर सूचना बहुत ज्यादा है तो वह मैनेजमेंट के उपर एक burden की तरह हो जाता है. तथा इसे समय पर भी प्रोसेस नहीं किया जा सकता है तथा इसकी accuracy भी कम हो जाती है.

अर्थात् कहने का मतलब है कि सूचना को न तो बहुत ज्यादा होना चाहिए और ना ही कम.MIS characteristics

9:- comprehensive:- MIS को comprehensive होना चाहिए, जिसमे transaction प्रोसेसिंग सिस्टम तथा इनफार्मेशन सिस्टम managers के लिए डिजाईन होनी चाहिए.

इसमें formal तथा informal सिस्टम, ऑफिस इनफार्मेशन सिस्टम, forecasting सिस्टम, decision support system आदि सभी होते है.

10:- flexible:- MIS को flexible होना चाहिए अर्थात इसे आसानी से modify किया जा सकें. कहने का मतलब है कि इसे जरुरत के हिसाब से modifiable होना चाहिए.MIS characteristics

11:- management oriented:- यह मैनेजमेंट ओरिएंटेड होना चाहिए तथा इसमें top down एप्रोच को फॉलो किया जाता है.

12:- future oriented:- यह future oriented होना चाहिए अर्थात् यह केवल पिछले तथा historical डेटा को ही उपलब्ध ना कराता हो बल्कि अनुमान के आधार पर future के कुछ कार्य भी करता हों.MIS characteristics

13:- MIS जो है वह बहुत सारें subsystems से मिलकर बना होता है.

14:- MIS से productivity (उत्पादकता) बढ़ जाती है.

15: MIS जो है वह खुद के बारें में फीडबैक देने वाला होना चाहिए
जैसे:- transaction processing में होने वाले errors के बारें में बताता हों और इसमें यह भी रिकॉर्ड रहता है कि कौन से user ने कितने समय कंप्यूटर का प्रयोग किया और इसने कितना डेटा utilize कर लिया है. इसमें सभी चीजों की एक statistics होती है.

निवेदन:- आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो मुझे comment के द्वारा बताइए तथा इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ share करें. धन्यवाद.

1 thought on “characteristics of MIS in hindi

Leave a Comment