SDRAM क्या है? हिंदी में

SDRAM (synchronous DRAM) in hindi-

SDRAM का पूरा नाम synchronous dynamic random access memory (सिंक्रोनस डायनामिक रैंडम एक्सेस मैमोरी) है.

S.DRAM जो है वह DRAM का एक प्रकार है जो कि अन्य दुसरें DRAM से बहुत fast है.

SDRAM खुद को कंप्यूटर की system clock के साथ synchronize कर लेती है.  synchronized होने के कारण यह अन्य DRAM से बहुत तेज है.

S.DRAM की स्पीड को megahertz (मेगाहर्ट्ज़) में मापा जाता है. तथा यह 133 MHz तक system bus cycling को सपोर्ट करता है. इसको 1969-70 में  प्रस्तावित किया गया था.

S.DRAM का सबसे ज्यादा प्रयोग कंप्यूटरों मे तथा कंप्यूटरो से सम्बंधित टेक्नोलॉजी मे किया जाता है.

types of SDRAM in hindi-

SDRAM के बहुत सारे प्रकार है. जिन्हें हम यहाँ discuss करेंगे.

1- SDR SDRAM

SDR SDRAM का पूरा नाम single data rate synchronous dyanamic random access memory है.

यह इसका सबसे पहला version है. अब SDR की जगह अन्य SDRAM ने ले ली है.

2- DDR SDRAM-

इसका पूरा नाम double data rate synchronous dyanamic random access memory है. इसे DDR1 SDRAM भी कहते हैं.

यह पारंपरिक S.DRAM से दुगनी तेजी से डेटा ट्रान्सफर प्रदान करता है. यह प्रत्येक cycle मे दो words को read या write कर सकता है.

3- DDR2  SDRAM-

इसका पूरा नाम double data rate2 SDRAM है. यह DDR S.DRAM की तरह ही समान है परन्तु यह प्रत्येक clock cycle में 4 words को read या write करती है. इसे 2003 मै प्रस्ताबित किया गया था.

4- DDR3 SDRAM-

इसका पूरा नाम double data rate3 SDRAM है.

इसकी गति DDR2 से दुगना है, अर्ताथ यह प्रत्येक cycle में 8 words को read या write करती है.

5- DDR4 SDRAM-

इसका पूरा नाम double data rate 4 SDRAM है.

इसकी performance तथा गति SDRAM के अन्य versions की तुलना में बेहतर है. इसे 2014 के मध्य में प्रस्तावित किया गया था.

6- DDR5 SDRAM-

इसका पूरा नाम double data rate5 SDRAM है. यह अभी under development में है. DDR5 जो है वह power consumption को कम कर देगा तथा क्षमता और बैंडविड्थ को बड़ा देगा.

advantage of SDRAM in hindi-

इसके लाभ निम्नलिखित हैं-

1- यह RAM के अन्य versions की तुलना में fast है.

2- यह DRAM से 4 गुना ज्यादा बेहतर performance देता है.

3- इसमें पारंपरिक RAM की तुलना में बहुत तेज clock speed होती है.

4- यह सिस्टम clock के साथ synchronized हो जाती है.

disadvantages of SDRAM-

इसकी हानियाँ निम्नलिखित है-

1- इसका प्रयोग पुराने मदरबोर्ड के साथ नहीं कर सकते है.   

2:- जो SDR SDRAM था वो केवल single word को ही read या write कर पाता था.

इसे भी पढ़ें:- ROM क्या है तथा इसके प्रकार क्या है?

निवेदन:- आपको यह पोस्ट कैसी लगी मुझे कमेंट के द्वारा बताइए तथा इसे अपने दोस्तों के साथ share करें. धन्यवाद.

Leave a Comment