what is GSM in hindi? its advantage and history

GSM in hindi (GSM kya hai?)

आज हम GSM kya hai तथा इसके लाभ हानि तथा history के बारें में पढेंगे.

GSM kya hai

GSM का पूरा नाम global systems for mobile communication है. GSM मोबाइल नेटवर्क के लिए एक second generation (2G) स्टैण्डर्ड है.

यह एक डिजिटल cellular technology है जिसका प्रयोग mobile voice तथा data services को ट्रांसमिट करने के लिए किया जाता है. इसमें mobile voice तथा data services को 850 MHz, 900 MHz, 1800 MHz तथा 1800 MHz फ्रीक्वेंसी बैंड्स पर operate किया जाता है.

GSM के concept को 1970 के दशक में Bell laboratories में प्रस्तावित किया गया था.

GSM को डिजिटल सिस्टम के तौर पर विकसित किया गया था इसे विकसित करने के लिए time division multiple access (TDMA) तकनीक का प्रयोग किया गया था.

GSM पहले circuit switching नेटवर्क था बाद में इसमें packet switching को implement किया गया और इसके बाद इसमें GPRS (general packet Radio service) को भी implement कर दिया गया.

वर्तमान में दुनिया के 70% लोग GSM का प्रयोग कर रहे है.

GSM जो है वह 64 kbps से 120 mbps तक के data rates को carry कर सकता है.

GSM सामान्य service से लेकर advance services भी उपलब्ध करता है जैसे:- roaming.
roaming के द्वारा हम अपने GSM फ़ोन नंबर को दूसरे नेटवर्क में प्रयोग कर सकते है.

GSM में हम GPRS तथा SMS की सेवाओं का लाभ उठा सकते है तथा इसमें phone number को identify करने के लिए subscriber identity module (SIM) का प्रयोग किया जाता है.

GSM phone में हम एक SIM card को निकालकर दूसरा SIM डाल सकते है.

GSM में डेटा को compress करके channel के माध्यम से भेजा जाता है.

इसे भी पढ़ें:- GSM architecture in hindi

GSM Advantage in hindi

इसके advantage निम्नलिखित है:-

1:- GSM mobile phones तथा modem पूरी दुनिया में उपलब्ध होते है.

2:- यह बहुत ही सस्ता है अर्थात् इसमें सस्ती call rates, मुफ्त messaging की सुविधा तथा limited free calls का plan उपलब्ध होता है.

3:- GSM में calling की quality बेहतर होती है तथा यह CDMA से ज्यादा secure है.

4:- इसमें बहुत सारीं value added सेवायें होती है जैसे:- GPRS, SMS आदि.

5:- GSM mobiles में battery power की खपत बहुत ही कम होती है.

6:- tri based GSM के द्वारा हम अपने फ़ोन को दुनिया में कहीं भी प्रयोग कर सकते है.

7:- इसका प्रयोग ISDN (integrated services digital network) तथा अन्य सेवाओं के साथ कर सकते है.

8:- इसमें international roaming की सुविधा उपलब्ध होती है.

9:- इसमें इन्टरनेट की speed बहुत ही अच्छी होती है.

10:- GSM नेटवर्क को maintain करना बहुत ही आसान होता है.

11:- इसमें phone जो है वह SIM cards के माध्यम से चलता है और हम विभिन्न SIM cards का प्रयोग कर सकते है.

GSM disadvantage in hindi

इसके disadvantage निम्नलिखित है:-

1:- CDMA की तुलना में GSM की roaming का charge ज्यादा है.

2:- इसमें mobile के द्वारा की गयी call को tamper किया जा सकता है.

3:- यदि SIM खो जाती है तो उसमें उपस्थित data (जैसे:- number, message आदि) भी खो सकते है यदि हमने अपने data को phone में save नहीं किया है तो.

4:- airplanes, petrol pumps तथा hospitals में GSM पर आधारित mobile का प्रयोग नही करना चाहिए क्योंकि यह pulse based burst transmission तकनीक का प्रयोग करती है.

GSM history in hindi

हमने अभी तक GSM kya hai तथा इसके लाभ हानि पढ़ ली है अब इसका इतिहास पढ़ते है, जो निम्नलिखित है:-

1982:- Pan-European cellular mobile system के स्टैण्डर्ड को बढ़ाने के लिए एक GSM group को बनाया गया.

1985:- इस group के द्वारा दी गयी recommendation की list को accept किया गया.

1986:- list में से सबसे अच्छी तकनीक को choose करने के लिए field tests किये गये.

1987:- TDMA (time division multiple access) को एक्सेस मेथड के रूप में चुना गया,.

1988:- GSM सिस्टम को validate किया गया.

1989:- ETSI (European telecommunication standards institute) को GSM standards को manage करने की जिम्मेदारी दी गयी.

1990:- GSM का फेज1 release किया गया.

1991:- GSM सर्विस को commercialy लांच किया गया.

1993:- GSM सेवाओं को यूरोप के बाहर भी शुरू किया गया.

1995:- GSM का phase 2 भी release किया गया.

2004:- GSM का subscription 1 करोड़ लोगो ने ले लिया.

निवेदन:- आपके लिए GSM kya hai की यह पोस्ट helpful रही हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share करें. तथा इस पोस्ट से सम्बन्धित सवाल आप कमेंट में पूछ सकते है. धन्यवाद.

Leave a Comment