what is register in hindi and types of registers in hindi रजिस्टर क्या है?

Register in hindi (रजिस्टर क्या है?)

Register एक बहुत ही तेज कंप्यूटर मेमोरी होती है जिसका प्रयोग data (instruction) को स्टोर करने के लिए किया जाता है।

Register का प्रयोग CPU के द्वारा बहुत सारे operations को करने के लिए किया जाता है। जब हम कोई इनपुट system को देते है तो ये इनपुट registers में store हो जाते है और system के प्रोसेसिंग के बाद जो आउटपुट मिलता है वो भी registers से ही प्राप्त होता है। तो हम कह सकते है कि registers का प्रयोग CPU के द्वारा data को process करने के लिए किया जाता है।

Register निम्नलिखित कार्य perform करता है:-

Fetch:- Fetch आपरेशन का प्रयोग users के द्वारा दिए गए instructions को लेने के लिए किया जाता है और जो instructions main memory में स्टोर होते है उन्हें registers के द्वारा fetch किया जाता है।

Decode:- decode आपरेशन का प्रयोग instructions को interpret करने के लिए किया जाता है अर्थात CPU ये देखेगा कि कौन सा operation किस instructions पर परफॉर्म होगा।

Execute:- execute आपरेशन को CPU के द्वारा execute किया जाता है। और CPU के द्वारा जो output प्राप्त होगा वह main memory में स्टोर हो जाएगा और उसके बाद यह user screen पर display होगा।

register दोनों प्रकार की memory में data को process करने तथा data को primary storage से अंदर या बाहर process करने के लिए आवश्यक होता है। register ऐसे data या information को रखता है जिस पर तुरंत कार्य करना होता है। register जो है वह information को temporary basis पर और CPU के एक भाग पर hold करके रखता है।

वास्तव में , register का size और register की संख्या computer की speed निर्धारित करने में help करती है। register में data का transfer एवं primary storage में data अंदर या बाहर एक high speed operation से होता है। register CPU का एक part है और यह एक समय में किसी data के एक part को carry करता है। यह information के उस address को रखता जहां से वह आ रहा है और जहां उसे store होना है।

कुछ प्रमुख register है जिनका ज्यादतर उपयोग होता है है एवं उनके function को describe किया गया है –

  1. Memory address register (MAR)
  2. Instruction register (IR)
  3. Address register
  4. Accumulator
  5. Program counter (PC)
  6. Memory buffer register (MBR)
  7. Index register
  8. Data register
  9. Input output register

Memory address register (MAR)

यह रजिस्टर active memory location के address को hold करके रखता है। यह रजिस्टर instruction के उस address को रखता है जहां से वह आ रहा है और जहां उसे store होना होता है। information के execution के दौरान memory से data या instruction को access करने का कार्य यह register करता है।

Instruction register (IR)

यह रजिस्टर current instruction को hold करके रखता है जिसका execution हो रहा होता है। processor के द्वारा किसी दिए गए time में केवल एक ही instruction को execute किया जाता है। यह register उस instruction को control unit में जाने से पहले store करके रखता है।

Address register

address register का प्रयोग address को स्टोर करने के लिए किया जाता है। basically, किसी data के memory address को तब store किया जाता है जब वह या तो memory से load होता है या memory में store होता है। जबकि address register तब तक data के address को स्टोर करके रखता है जब तक data की आवश्यकता होती है यह उनके location के address को store करके रखता है। यह register memory address के साथ conjunction में उपयोग होता है।

Accumulator

accumulator का प्रयोग सिस्टम द्वारा के generate हुए result को store करने के लिए किया जाता है। CPU के प्रोसेसिंग के बाद जो भी results (output) जनरेट होते है उन्हें Accumulator के द्वारा स्टोर कर लिया जाता है।

Program counter (PC)

program counter जो है वह execute होने वाली अगली instruction के address को hold करके रखता है। program counter को कभी कभी instruction address register या processor register भी कहा जाता है। यह hardware memory डिवाइस है जो execution के दौरान current instruction के location को represent करता है।

Memory buffer register (MBR)

MBR को memory data register (MDR) भी कहते है। यह कंप्यूटर के control unit का रजिस्टर है।

यह रजिस्टर MAR के द्वारा निर्धारित memory location की एक copy रखता है। जिसे किसी data को read या write करते time प्रयोग किया जाता है। मतलब यह register memory से आ रहे या memory से जा रहे data एवं instruction को store करके रखता है।

Index register

यह एक hardware element है जो कि एक number को स्टोर करके रखता है इस नंबर को कंप्यूटर instruction में add किया जाता है। इस रजिस्टर को base register भी कहते है।

Data regiaters

इस रजिस्टर का प्रयोग microcomputers में किया जाता है इसका प्रयोग peripheral डिवाइस में आने वाले या जाने वाले temporary data को स्टोर करने के लिए किया जाता है।

इसे भी पढ़ें:- pipelining क्या है?

निवेदन:- अगर आपके लिए यह पोस्ट helpful रही हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share करें.

Leave a Comment