Grid computing क्या है? हिंदी में.

क्या आप जानते है कि what is grid computing in hindi (ग्रिड कंप्यूटिंग क्या है?) तथा इसका प्रयोग क्यों किया जाता है अगर नहीं तो आज हम इसके बारें में पढेंगे और इसे detail में जानेंगे तो चलिए शुरू करते है:-

what is grid computing in hindi (ग्रिड कंप्यूटिंग क्या है?)

grid computing एक कंप्यूटर नेटवर्क है जिसमें प्रत्येक computer के resources को दूसरे अन्य computers के साथ share किया जाता है.

दूसरें शब्दों में कहें तो, “ग्रिड कंप्यूटिंग एक नेटवर्क में जुड़े हुए computers का समूह होता है. ये computers एक साथ virtual super computer की तरह कार्य करते है और बड़े कार्य (tasks) को पूरा करते है जैसे कि- किसी बड़ी मात्रा के data को analyze करना या weather prediction आदि.”

grid computing को distributed computing भी कहते है. इसमें workload को बहुत सारें computer systems में बाँट दिया जाता है जिससे कि सारें सिस्टम अपने resources का प्रयोग करके एक common goal (लक्ष्य) को प्राप्त कर सकें.

सामान्य रूप से, grid computing एक नेटवर्क में बहुत सारें tasks को perform कर सकता है परन्तु यह विशेष प्रकार के applications पर भी कार्य कर सकता है इसको ऐसी परेशानियों को solve करने के लिए डिजाईन किया गया था जो कि super computer के लिए भी बड़े थे.

इसे 1990 के मध्य में विकसित किया गया था.

grid computing को अब एक उदाहरण के द्वारा समझते है:-

माना कि आप और आपके दोस्त camping trip में गये. आप अपने साथ एक बहुत बड़ा tent ले गये जिसको आपने इसे सभी लोगों के साथ share किया. आपके एक दोस्त ने food (खाना) share किया और एक दोस्त ने कहा कि वह अपनी car में सभी को ले जायेगा.

trip में आप तीनों ने अपनी knowledge तथा skills को share किया जिससे trip में मजा आया और trip comfortable रही.
अगर आप trip को अकेले manage करते तो आपको resources को जुटाने में ज्यादा time लगता और आपको अकेले बहुत hard work करना पड़ता.

grid computing भी same इसी concept का प्रयोग करती है इसमें workload को बहुत सारें computers में बाँट दिया जाता है जिससे कि कार्य को जल्दी तथा प्रभावी पूर्ण ढंग से पूरा कर लिया जाये.

इसे भी पढ़ें:- parallel computing को समझाइये?

grid computing in hindi
इमेज सोर्स

components of grid computing

जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि ग्रिड कंप्यूटिंग में सभी कंप्यूटरों के resources का प्रयोग किया जाता है ये resources निम्नलिखित होते है:-

  1. central processing unit (CPU)
  2. memory
  3. storage
  4. software

central processing unit (CPU)- cpu को कंप्यूटर का दिमाग (brain) कहते है जो कि calculation तथा processing को perform करता है. यह arithmetic और logical गणनाएं करता है.

memory- यहाँ मैमोरी का मतलब – RAM से है. यह temporary storage होता है जिसका प्रयोग करके CPU calculation तथा processing करता है.

storage- स्टोरेज का मतलब permanent data storage डिवाइस से है जैसे- हार्ड डिस्क या डेटाबेस आदि.

software- यह program होता है जो resource को control तथा processing को पूरा करता है.

advantage of Grid computing in hindi (ग्रिड कंप्यूटिंग के लाभ)

इसके लाभ निम्नलिखित है:-

1:- इससे बड़ी तथा कठिन problems को कम समय में solve किया जा सकता है.

2:- दूसरे organisation के साथ आसानी से collaborate किया जा सकता है.

3:- यह सुपर कंप्यूटर का कार्य करता है जिससे हमें इतने महंगे कंप्यूटर को खरीदने की जरूरत नहीं पड़ती.

4:- इसके द्वारा resources को ज्यादा प्रभावी रूप से use किया जा सकता है.

5;- इसमें failure का खतरा नहीं होता. अगर एक सिस्टम fail भी हो जाए तो अन्य कंप्यूटरों पर उसका कोई असर नहीं होता.

6:- अगर हमें इसको upgrade करना हो तो हम बिना down time के upgrade कर सकते है.

7:- ग्रिड कंप्यूटिंग में tasks को छोटे tasks में बाँट दिया जाता है और इन tasks को बहुत सारें computers में बाँट दिया जाता है जिससे tasks आसानी से पूरे हो जाते है.

8:- यह flexible तथा resilient operational वातावरण प्रदान करता है.

disadvantage of grid computing in hindi (ग्रिड कंप्यूटिंग के नुकसान)

1:- इसका मुख्य नुकसान security है क्योंकि इसमें attack करने की opportunity ज्यादा होती है.

2:- अगर कोई large application चलानी है तो हमें बड़े SMP servers की आवश्यकता होती है.

3:- complex सॉफ्टवेर की जरूरत होती है.

4:- सभी tasks इसके लिए suitable नहीं होते.

निवेदन:- अगर आपको article अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share कीजिये. और अपने questions comment करके पूछिए.

Leave a Comment