Need of Entrepreneurship in Hindi – उद्यमिता की आवश्यकता क्यों होती है?

हेल्लो friends! आज इस पोस्ट में आपको Need of Entrepreneurship in Hindi (उद्यमिता की आवश्यकता) के बारें में बताऊंगा, तो चलिए शुरू करते हैं:-

Need of Entrepreneurship in Hindi – उद्यमिता की आवश्यकता

उद्यमिता केवल अपने व्यवसाय को शुरू करना और उसे manage करना ही नहीं है बल्कि यह किसी देश की economy (अर्थव्यवस्था) में भी मदद करता है.

उद्यमिता की मुख्य आवश्यकता रोजगार के अवसरों का निर्माण, innovation और अर्थव्यवस्था में सुधार है।

तो चलिए अब इसे इसकी आवश्यताओं को विस्तार में पढ़ते है:-

यह एक देश की life-line (जीवन-रेखा) होती है:- कोई भी देश उद्यमिता के विकास के बिना progress नही कर सकता. सभी देश अपने trade को बढ़ाना चाहते है परन्तु यह entrepreneurship के बिना संभव नहीं है. यह देश की economy को बेहतर बनाता है.

यह innovation (नवाचार) प्रदान करता है:-

उद्यमिता जो है वह नए ideas, imagination और vision को प्रदान करता है. एक उद्यमी एक innovator होता है जो कि नयी technology, product और market को खोजता है. वह बहुत सारें resources की उत्पादकता को बढ़ा देता है. एक उद्यमी economy के विकास का केंद्रबिंदु होता है. और वह नए ideas को implement करके economy को बढाता है.

इसके द्वारा रोजगार मिलता है:- भारत जैसे देश में बेरोजगारी बहुत है क्योंकि यहाँ कि जनसंख्या बहुत अधिक है. उद्यमिता के द्वारा बहुत सारें लोगों को jobs मिलती है जिससे बेरोजगारी की समस्या में कमी आती है. यह एंट्री-लेवल जॉब्स प्रदान करता है ताकि अकुशल श्रमिकों के लिए प्रशिक्षण या अनुभव प्राप्त हो सके।

छोटे उद्यम ही एक ऐसा क्षेत्र है जो हर साल कुल रोजगार का एक बड़ा हिस्सा उत्पन्न करता है।

इसके द्वारा समाज में बदलाव आता है:- नए सामान या उत्पाद standard of living (जीवन स्तर) को बढ़ा देते है. क्योंकि ये कम मूल्य में अच्छी service प्रदान करते है. जिसके कारण समाज में मौजूद गरीब लोगों को भी इसका फायदा मिलता है और उनके जीवन स्तर में सुधार होता है. तो हम कह सकते है कि इससे समाज में शांति और समृधि बढती है.

निवेदन:- अगर आपको यह post पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये और आपके इससे related कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट के द्वारा बता सकते हैं. Thanks.

1 thought on “Need of Entrepreneurship in Hindi – उद्यमिता की आवश्यकता क्यों होती है?”

Leave a Comment