Difference b/w Procedural and Non-Procedural Language in Hindi

Hello दोस्तों! आज मैं आपको इस पोस्ट में Difference between Procedural and Non-Procedural Language in Hindi (प्रक्रियात्मक और गैर-प्रक्रियात्मक भाषा के बीच अंतर) को पढेंगे. तो चलिए शुरू करते हैं:-

Difference Between Procedural and Non-Procedural Language in Hindi

Procedural LanguageNon-Procedural Language
यह एक command driven भाषा है.यह एक function driven लैंग्वेज है.
इसकी efficiency (दक्षता) non-procedural से अधिक होती है.इसकी दक्षता procedural से कम होती है.
इसके program का size बहुत बड़ा होता है.इसके program का साइज़ कम होता है.
यह time-critical एप्लीकेशन के उपयुक्त (suitable) नहीं होता है.यह time-critical एप्लीकेशन के लिए उपयुक्त होता है.
इसके semantics बहुत ही complex (कठिन) होते हैं.इसके semantics बहुत ही easy होते हैं.
यह केवल restricted data types को ही return करता है.यह किसी भी data types और values को return कर सकता है.
procedural langauge में iterative loops और recursive calls दोनों का प्रयोग किया जाता है.non-procedural languages में recursive calls का प्रयोग किया जाता है.

Procedural Language in Hindi

Procedural languages में, program को instructions के एक क्रम के रूप में लिखा जाता है. इसमें सभी instructions को एक एक करके execute किया जाता है. यह एक प्रक्रिया है जो यह define करती है कि “क्या करना है “और “कैसे करना है”. इस प्रकार की language को आसानी से समझा जा सकता है क्योंकि इसमें सभी instructions क्रम में लिखे जाते हैं.

Example:- FORTRAN, COBOL, ALGOL, BASIC, C and Pascal.

इसके लाभ:-

  • इसे आसानी से समझा जा सकता है.
  • यह well-structured लैंग्वेज है.
  • ये languages बहुत flexible होती हैं.

Non-procedural language in Hindi

इसमें, user को सिर्फ ‘क्या करना है’ को ही specify करना होता है. इसमें इसको “कैसे करना है” को specify करने की जरूरत नहीं होती. इसे applicative और functional language भी कहते हैं.

उदाहरण:- SQL, PROLOG, LISP, Java, C++, Python आदि.

इसके लाभ:-

  • इसमें बड़े programs को आसानी से लिखा जा सकता है.
  • इसमें code को दुबारा से use किया जा सकता है.
  • इसका execution time बहुत तेज होता है.
  • इसको आसानी से test और debug किया जा सकता है.

निवेदन:– अगर आपके लिए यह पोस्ट उपयोगी रही हो तो इसे अपने friends के साथ अवश्य share कीजिये और आपके किसी भी subject से सम्बन्धित कोई question हो तो नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

1 thought on “Difference b/w Procedural and Non-Procedural Language in Hindi”

Leave a Comment