Linux क्या है और इसके फायदे, नुकसान क्या हैं?

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस पोस्ट में What is Linux in Hindi (लिनक्स क्या है?) के बारें में पढेंगे और इसके structure को भी देखेंगे. इसे आप पूरा पढ़िए, आपको यह आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

What is Linux in Hindi – लिनक्स क्या है?

  • Linux एक open-source ऑपरेटिंग सिस्टम है जो कंप्यूटर और यूज़र के बीच इंटरफ़ेस की तरह कार्य करता है।

  • इसका अविष्कार Linus Torvalds ने 1991 में किया था।

  • Linux एक ओपन-सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसका मतलब यह है कि इसका इस्तेमाल कोई भी free (मुफ्त) में कर सकता है और इसको modify भी कर सकता है।

  • Windows एक closed-source ऑपरेटिंग सिस्टम है अर्थात इसको modify नही किया जा सकता। इसे केवल कंपनी ही modify कर सकती है। जबकि Linux में हम अपनी सुविधा के अनुसार बदलाव भी कर सकते हैं।

  • शुरुआत में, Linux को केवल Personal Computer के लिए ही बनाया गया था परंतु बाद में इसका इस्तेमाल server, mainframe computer, और supercomputer में होने लगा। इसके अलावा Linux का इस्तेमाल राऊटर, कार, टेलीविज़न (TV), Smart watch, और वीडियो गेम कंसोल में भी किया जाता है।

  • आजकल Android में भी Linux Kernel का प्रयोग किया जाता है।

  • लिनक्स सबसे तेजी से grow होने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है इसका इस्तेमाल आजकल स्मार्ट वॉच से लेकर सुपरकंप्यूटर तक में होता है।

  • दूसरे शब्दों में कहें तो, “Linux एक सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर सिस्टम के हार्डवेयर और resources को maintain करके रखता है। इसके अलावा यह हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच संचार (communication) करने में मदद करता है।”

Structure of Linux in Hindi – लिनक्स का स्ट्रक्चर

नीचे आपको लिनक्स स्ट्रक्चर का चित्र दिया गया है-

Linux structure in Hindi

1- Kernel (कर्नेल)

  • Kernel लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे मुख्य हिस्सा है। यह Linux के दिल की तरह है क्योंकि इसके द्वारा ही सभी प्रमुख कामों को किया जाता है।

  • Kernel सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बीच कम्युनिकेशन करने में मदद करता है। इसके साथ-साथ यह सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बीच इंटरफ़ेस की तरह कार्य करता है।

  • एक सिस्टम में केवल एक ही kernel होता है।

Kernel के कार्य

Kernel के निम्नलिखित कार्यों को पूरा करता है-

1- कंप्यूटर सिस्टम में बहुत सारे डिवाइस connect (जुड़े) होते है। जैसे- CPU,, साउंड कार्ड, और ग्राफिक्स कार्ड आदि.  Kernel इन सभी devices को मैनेज करता है।

2- Kernel का इस्तेमाल सिस्टम की मैमोरी को मैनेज करने के लिए भी किया जाता है।

3- Kernel यह सुनिश्चित करता है की CPU सही तरीके से process को execute कर रहा है या नहीं।

4- यह फ़ाइल सिस्टम को मैनेज करता है।

5- यह Interrupt को हैंडल करता है।

6- यह processes को schedule करता है।

2- System Library (सिस्टम लाइब्रेरी)

  • System library एक विशेष प्रोग्राम है जिसका प्रयोग ऑपरेटिंग सिस्टम की कार्यक्षमता को implement करने के लिए किया जाता है।

  • Programmers ने kernel से communicate करने के लिए system library बनाई है। लिनक्स की सबसे ज्यादा प्रयोग की जाने वाली सिस्टम लाइब्रेरी है – Glibc (GNU C library).

3- Shell

  • Shell एक कमांड इंटरप्रेटर है जो कि यूजर और ऑपरेटिंग सिस्टम के मध्य interactive और non-interactive इंटरफ़ेस प्रदान करता है।

  • Shell कमांड को read करता है तथा प्रोग्राम को execute करने के लिए request को send करता है. इसलिए इसको command interpreter भी कहते है.

  • Shell के द्वारा हम अपने commands, program और script को run करते हैं।

4- Hardware (हार्डवेयर)

हार्डवेयर के अंदर वह सभी भाग (parts) आ जाते है जिनके द्वारा कंप्यूटर सिस्टम कार्य करता है. अर्थात इसमें सभी peripheral device आ जाती है जैसे:- RAM, ROM, HARD DISK DRIVE, CPU, PRINTER, SCANNER आदि.

5- Utilities

Utility एक प्रोग्राम  होता है जो user को ऑपरेटिंग सिस्टम की अधिक से अधिक कार्यक्षमता (functionality) प्रदान करता है।

इसे पढ़ें:-

Advantages of Linux in Hindi – लिनक्स के लाभ

इसके फायदे निम्नलिखित हैं-

1- Open-Source (ओपनसोर्स)

Linux का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह एक open source ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसके कारण इसका source code सबके लिए आसानी से उपलब्ध हो जाता है।

इस ऑपरेटिंग सिस्टम को आसानी से modify भी किया जा सकता है।

2- Security (सुरक्षा)

Linux की security दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में बहुत ही बेतहर होती है क्योकि इसमें यूजर को access करने के लिए login id और पासवर्ड की जरूरत पड़ती है।

इसके अलावा Linux को सिक्योरिटी के लिए किसी antivirus की ज़रूरत नहीं पड़ती।

3- Free (मुफ्त)

Linux का एक और फायदा यह है कि कोई भी यूजर इसको आसानी से free में डाउनलोड करके इस्तेमाल कर सकता है। लगभग सभी linux free होते है। यानी यूजर को इसका इस्तेमाल करने के लिए पैसे खर्च नहीं करने पड़ते।

4- Lightweight (हल्का)

Linux OS काफी lightweight होता है। यानी कि इस ऑपरेटिंग सिस्टम का size बहुत कम होता है।

इसको कंप्यूटर में चलाने के लिए बहुत ज्यादा features की ज़रूरत नहीं पड़ती और इसको चलाने के लिए कंप्यूटर को ज्यादा मेमोरी स्पेस की भी ज़रूरत नहीं पड़ती।

5- Stability (स्थिरता) –

Linux दुसरे ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में स्थिर (stable) होते है। अर्थात इसको चलाने के लिए कंप्यूटर सिस्टम को बार बार reboot करने की ज़रूरत नहीं पड़ती।

6- Performance (प्रदर्शन)

Linux की performance दुसरे ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में बहुत अच्छी होती है। इसमें एक समय में बहुत सारे लोग एक साथ काम कर सकते हैं और यह hang भी नही होता।

7- Flexibility

यह ऑपरेटिंग सिस्टम बहुत ज्यादा flexible होता है। इसका प्रयोग embedded system और server application के लिए भी किया जा सकता है। 

8- Software Update (सॉफ्टवेयर अपडेट) –

Linux में, किसी भी सॉफ्टवेयर को तेजी से और आसानी से update किया जा सकता है।

9- Graphical user interface (ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस) –

लिनक्स एक command पर आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम है परंतु यह windows की तरह interactive यूजर इंटरफ़ेस प्रदान करता है।

10– यह सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सपोर्ट करता है जैसे कि- C, C++, Java, Python, और Ruby आदि।

11– इसमें user का डेटा private रहता है।

12– यह एक समय में कई सारें tasks (कार्यों) को पूरा करता है।

13– इसको install करना आसान होता है।

Disadvantages of Linux Operating System in Hindi लिनक्स के नुकसान

1- Linux ऑपरेटिंग सिस्टम को सीखना आसान नहीं होता। Windows को इस्तेमाल करने वाले यूजर इसे आसानी से नहीं सिख सकते।

2– इसमें high quality के games को चलाने में दिक्कत होती है।

3– window और MAC की तुलना में इसका technical support अच्छा नहीं है। क्योकि लिनक्स में किसी भी प्रकार का customer support नही दिया जाता। जिसके कारण linux सिस्टम में user समस्याओ के समाधान के लिए कस्टमर से बात नहीं कर सकता।

4- Hibernation सभी ऑपरेटिंग सिस्टम में एक अच्छी सुविधा मानी जाती है। Hibernation किसी काम को करने में तेजी लाता है। जिसके कारण यूजर का समय बच जाता है। लेकिन linux में यह सुविधा उपलब्ध नहीं है।

5– इसमें bugs और errors को ढूंढना बहुत मुश्किल होता है।

6- Linux की सबसे बड़ी समस्या है यह है कि मार्किट में इसके share सीमित मात्रा में है। जिसके कारण Windows और Mac को Linux में port नहीं किया जा सकता।

Linux और Windows ऑपरेटिंग सिस्टम में अंतर

LinuxWindows
यह एक open-source ऑपरेटिंग सिस्टम है.यह एक closed-source ऑपरेटिंग सिस्टम है.
इसके फाइल का नाम case-sensitive होता है.windows के फाइल का नाम case-sensitive नही होता है.
यह free है.इसको पैसे देकर खरीदना पड़ता है.
इस OS में, monolithic kernel का प्रयोग किया जाता है.इसमें micro kernel का प्रयोग किया जाता है.
विंडोज की तुलना में यह ज्यादा efficient (कुशल) है.यह कम efficient है.
यह ज्यादा सुरक्षित है क्योंकि इसे hacker आसानी से hack नही कर सकते.यह कम सुरक्षित है.
इसमें antivirus का प्रयोग नहीं किया जाता क्योंकि इसमें virus नही आते.इसमें एंटीवायरस का प्रयोग किया जाता है.

Features of Linux in Hindi – लिनक्स की विशेषताएँ

इसकी विशेषताएं निम्नलिखित होती हैं:-

  • मैमोरी मैनेजमेंट – लिनक्स मैमोरी को मैनेज करता है, यह primary memory की पूरी जानकारी रखता है और देखता है कि मैमोरी के कौन से भाग का use किस प्रोग्राम ने किया है. जब भी कोई प्रोग्राम request करता है तो उसे मैमोरी allocate करता है.
  • प्रोसेसर मैनेजमेंट – यह प्रोग्राम को प्रोसेसर (CPU) allocate करता है और जब किसी प्रोग्राम को CPU की जरुरत खत्म हो जाती है तो इसे deallocate भी करता है.
  • डिवाइस मैनेजमेंट – लिनक्स सभी devices की जानकारी रखता है. तथा लिनक्स यह भी निर्णय लेता है कि किस program को कौन सी डिवाइस दी जाएँ, कब दी जाएँ तथा कितने समय के लिए दी जाएँ.

Applications of Linux in Hindi – लिनक्स के अनुप्रयोग

लिनक्स का इस्तेमाल आजकल बहुत जगहों पर किया जाता है –

1- Mozilla Firefox में

Linux का इस्तेमाल Firefox ब्राउज़र को ग्राफिकल इंटरफ़ेस देने के लिए किया जाता है। Mozilla Firefox लिनक्स के लिए सबसे तेज ब्राउज़र माने जाते है।

2- Thunderbird में

Thunderbird एक तरह का ईमेल क्लाइंट होता है। जिसका उपयोग यूजर की emails को मैनेज करने के लिए किया जाता है।

Thunderbird में backup message की सुविधा उपलब्ध होती है। यानी डिलीट किये गए मैसेज को वापस restore किया जा सकता है।

3– LibreOffice में-

LibreOffice एक open source ‘ऑफिस सुइट’ है। जिसका उपयोग दुनिया भर की सरकारों के द्वारा documents को publish करने के लिए किया जाता है।

4– VLC Media Player में-

VLC सबसे प्रसिद्ध मीडिया प्लेयर माने जाते है। क्योकि VLC किसी भी प्रकार की वीडियो और ऑडियो फाइल को बिना additional codec के support करते है। यानी वीडियो और ऑडियो फाइल को run करने के लिए additional codec की ज़रूरत नहीं पड़ती।

5.Shortcut में –

shortcut एक editing सॉफ्टवेयर है। जो linux , macOS के साथ साथ windows में भी उपलब्ध है। यह एक open source सॉफ्टवेयर है। जिसका इस्तेमाल free में किया जा सकता है।

6– GIMP में

GIMP एक इमेज एडिटर सॉफ्टवेयर है। जिसका उपयोग images को edit करने के लिए किया जाता है। जैसे इमेज का size छोटा या बड़ा करना , इमेज में कलर add करना , और images में फ़िल्टर लगाना etc . GIMP सॉफ्टवेयर भी एक free सॉफ्टवेयर है। यानी यूजर इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल बिना पैसे खर्च किये  कर सकता है। GIMP सॉफ्टवेयर की मदद से animation वीडियो को बनाया जा सकता है।

7– virtualBox में

VirtualBox एक क्रॉस प्लेटफार्म सॉफ्टवेयर है। जिसका उपयोग एक ही कंप्यूटर पर कई operating system को चलाने के लिए किया जाता है। यानी एक ही डिवाइस की मदद से कई device को चलाया जा सकता है।

8 – Audacity में –

Audacity एक डिजिटल ऑडियो एडिटर है। जिसका उपयोग ऑडियो फाइल को edit करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा इस application में ऑडियो फाइल को रिकॉर्ड करने की सुविधा भी उपलब्ध है।

9– Visual Studio Code में –

Visual Studio Code का निर्माण माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा किया गया है। इसका उपयोग coding और programing के लिए किया जाता है. visual studio code को यूजर free में इस्तेमाल कर सकता है। क्योकि यह एक मुफ्त text editor है।

10 – ClamAV में –

ClamAV एक तरह का antivirus सॉफ्टवेयर है। जिसका उपयोग कंप्यूटर सिस्टम में वायरस का पता लगाने और उस वायरस को हटाने के लिए किया जाता है। इसमें भी लिनक्स का इस्तेमाल किया जाता है.

Linux कितने बिट का ऑपरेटिंग सिस्टम होता है?

यह 32 बिट का OS होता है.

लिनक्स को कब और किसने विकसित किया?

इसका आविष्कार लाइनेक्स टाँरवर्ड्स ने 1991 में किया था।

Reference:- https://www.javatpoint.com/what-is-linux

निवेदन:– अगर आपके लिए What is Linux in Hindi (लिनक्स क्या है?) का यह आर्टिकल उपयोगी रहा हो तो इसे अपने friends और classmates के साथ अवश्य share कीजिये. और आपको किसी भी subject से सम्बन्धित कोई question हो तो उसे नीचे comment करके बताइए.

Leave a Comment