Types of Cloud Computing in Hindi – क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस आर्टिकल में (Types of Cloud Computing in Hindi – क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार) के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

Types of Cloud Computing in Hindi – क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार

Cloud Computing के चार प्रकार होते हैं:-

  • Public cloud
  • Private Cloud
  • Hybrid Cloud
  • Community Cloud
types of cloud computing in hindi

1- Public Cloud in Hindi (पब्लिक क्लाउड क्या है?)

पब्लिक क्लाउड वह क्लाउड होते है जो यूजर को इंटरनेट पर क्लाउड सेवाएं प्रदान करते है। पब्लिक क्लाउड को third party (जैसे कि – Amazon, Microsoft और Google आदि) के द्वारा मैनेज किया जाता है।

Public Cloud का इस्तेमाल कोई भी व्यक्ति इंटरनेट की मदद से कर सकता है. इसमें कोई भी व्यक्ति data को स्टोर और एक्सेस कर सकता है.

पब्लिक क्लाउड में pay-per-use के हिसाब से पैसे देने पड़ते है अर्थात् इसका आप जितना इस्तेमाल करते हैं आप को उतने ही पैसे देने पड़ते है.

पब्लिक क्लाउड छोटी कंपनियों के लिए बेहतर विकल्प होते है जो IT जरूरतों को पूरा करके कम लागत में बिज़नेस को शुरू करने में मदद करते है।

यह उन लोगो के लिए बेहतर विकल्प है जिनके पास कम पैसा होता है। यह क्लाउड एक समय में एक से ज्यादा यूजर को सेवा प्रदान करता है।

पब्लिक क्लाउड के resources को एक समय पर कई यूजर के साथ शेयर किया जाता है जिन्हे हम Tenants कहते है।

पब्लिक क्लाउड के उदाहरण – IBM SmartCloud Enterprise, Microsoft, Google App Engine, और Windows Azure Services Platform आदि.

public cloud in hindi

Advantages of Public Cloud in Hindi – पब्लिक क्लाउड के फायदे

  • पब्लिक क्लाउड को सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा मेन्टेन किया जाता है इसलिए हमे इसे मेन्टेन नहीं करना पड़ता।
  • इसे integrate करना आसान है।
  • Public cloud को खरीदना private और hybrid cloud की तुलना में सस्ता होता है. अर्थात् इसका मूल्य (cost) सबसे कम है.
  • यह यूजर को बेहतर लचीलापन (flexibility) प्रदान करता है।
  • यह scalable होते है।
  • इसमें यूजर की संख्या की कोई सीमा नहीं है।

Disadvantages of Public Cloud in Hindi – पब्लिक क्लाउड के नुकसान

  • पब्लिक क्लाउड कम सुरक्षित होते है क्योकि इसमें रिसोर्सेज को public के साथ शेयर किया जाता है।
  • इसकी परफॉरमेंस इंटरनेट स्पीड पर निर्भर करती है।
  • इसमें क्लाइंट के पास डेटा का कोई नियत्रण (control) नहीं होता।

2- Private Cloud in Hindi (प्राइवेट क्लाउड क्या है?)

प्राइवेट क्लाउड वे क्लाउड होते है जिनका इस्तेमाल प्राइवेट कंपनी के द्वारा किया जाता है। इसे internal या corporate cloud भी कहते है।

प्राइवेट क्लाउड का इस्तेमाल कंपनी के द्वारा डेटा को मैनेज करने और अपने डेटा सेंटर बनाने के लिए किया जाता है। इसको बनाने के लिए open source tools जैसे कि – Openstack या Eucalyptus का प्रयोग किया जाता है।

Private cloud की सुरक्षा बहुत ही अधिक होती है इसमें firewall का इस्तेमाल data को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है।

इस क्लाउड को यूजर के द्वारा मैनेज किया जाता है और इसको क्लाउड सर्विस प्रोवाइडर कोई सेवाएं प्रदान नहीं करते।

प्राइवेट क्लाउड को स्थान और मैनेजमेंट के आधार पर दो भागो में बाटा गया है :-

  • On-premise private cloud
  • Outsourced private cloud
private cloud in hindi

Advantages of Private Cloud in Hindi – प्राइवेट क्लाउड के फायदे

  • प्राइवेट क्लाउड यूजर को हाई लेवल की सुरक्षा प्रदान करता है।
  • इसकी performance काफी अच्छी होती है।
  • यह IT टीम को तेज गति से रिसोर्सेस को डिलीवर करने की परमिशन देता है।
  • इस क्लाउड को organization या company के द्वारा कण्ट्रोल किया जा सकता है. इसे कंट्रोल और मैनेज करने के लिए किसी third party की जरूरत नहीं पड़ती.

Disadvantages of Private Cloud in Hindi – प्राइवेट क्लाउड के नुकसान

  • इस क्लाउड को मैनेज और ऑपरेट करने के लिए skilled लोगों की ज़रूरत पड़ती है। बिना अच्छी skill के आप इसे manage नहीं कर सकते.
  • इस क्लाउड का इस्तेमाल हम अपनी company या organization में ही कर सकते हैं.
  • यह public cloud की तुलना में महंगा होता है.
  • इसे मेन्टेन और मैनेज करने के लिए ज्यादा लोगों की आवश्यकता होती है.

3- Hybrid Cloud in Hindi (हाइब्रिड क्लाउड क्या है?)

Hybrid cloud पब्लिक क्लाउड और प्राइवेट क्लाउड से मिलकर बना होता है। इस क्लाउड में पब्लिक और प्राइवेट क्लाउड दोनों की विशेषताए होती है। यह क्लाउड पूरी तरह से सुरक्षित होते है।

Hybrid cloud के द्वारा हम प्राइवेट और पब्लिक क्लाउड के बीच डेटा को शेयर कर सकते है।

हाइब्रिड क्लाउड को heterogeneous cloud भी कहते है यह पब्लिक और प्राइवेट दोनों की सेवाएँ प्रदान करता है।

हाइब्रिड क्लाउड के उदाहरण – Gmail, Google Apps, Google Drive, और MS Office आदि.

hybrid cloud in hindi

Advantages of Hybrid Cloud in Hindi – हाइब्रिड क्लाउड के फायदे

  • हाइब्रिड क्लाउड उन organization के लिए बेहतर होते है जिन्हे अधिक सुरक्षा की ज़रूरत होती है।
  • यह तेज गति से नए प्रोडक्ट और सर्विस को डिलीवर करता है।
  • यह क्लाउड जोखिम (risk) को कम करने में मदद करता है।
  • हाइब्रिड क्लाउड बहुत ही flexible होता है।

Disadvantages of Hybrid Cloud in Hindi – हाइब्रिड क्लाउड के नुकसान

  • इस क्लाउड की सुरक्षा public cloud से तो अच्छी होती है परन्तु private cloud से कम होती है.
  • इसे मैनेज करना मुश्किल है क्योंकि यह बहुत ही complex (जटिल) है.
  • इस क्लाउड की विस्वश्नीयता (reliablity) क्लाउड सर्विस प्रोवाइडर पर निर्भर होती है।

4- Community Cloud in Hindi (कम्युनिटी क्लाउड क्या है?)

कम्युनिटी क्लाउड एक प्रकार का distributed system है इसे बहुत सारें organizations के द्वारा access किया जाता है और इसके द्वारा ये organizations आपस में data को share करती है।

इस क्लाउड को एक से अधिक organization या थर्ड पार्टी के द्वारा मैनेज किया जाता है। कम्युनिटी क्लाउड सुरक्षा के मामले में यह अच्छे होते है।

कम्युनिटी का उदाहरण – Health Care community cloud

community cloud in hindi

Advantages of Community Cloud in Hindi – कम्युनिटी क्लाउड के फायदे

  • यह क्लाउड महंगे नहीं होते।
  • कम्युनिटी क्लाउड उन आर्गेनाइजेशन के लिए बेहतर विकल्प होते है जो अधिक सुरक्षा रखना चाहते है।
  • पब्लिक क्लाउड की तुलना में यह ज्यादा सुरक्षित होते है।
  • यह विभिन्न आर्गेनाईजेशन के बीच resources को शेयर करने की परमिशन देता है।

Disadvantages of Community Cloud in Hindi – कम्युनिटी क्लाउड के नुकसान

  • कम्युनिटी क्लाउड हर organization के लिए अच्छा विकल्प नहीं है।
  • यह प्राइवेट क्लाउड की तुलना में कम सुरक्षित है।
  • यह collaboration के लिए उपयुक्त नहीं है।
  • इसमें डेटा को स्टोर करने के लिए एक सिमित storage होता है।

Difference between Public & Private Cloud in Hindi

Private CloudPublic Cloud
प्राइवेट क्लाउड का इस्तेमाल केवल organization के द्वारा किया जा सकता है।पब्लिक क्लाउड का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है।
इसमें मेन्टेन्स कॉस्ट लगती है।इसमें मेन्टेन्स कॉस्ट नहीं लगती।
इसमें ज्यादा scalability होती है।इसमें कम scalability होती है।
यह organization के नेटवर्क के अंदर होते हैयह कही पर भी हो सकते है।
इसमें केवल एक ही organization का डेटा होता है।इसमें केवल एक से अधिक organization का डेटा होता है।
इसे प्राइवेट एडमिनिस्ट्रेटिव के द्वारा मैनेज किया जाता है।इसे सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा मैनेज किया जाता है।

Exam में पूछे जाने वाले प्रश्न

क्लाउड कंप्यूटिंग कितने प्रकार के होते है?

यह चार प्रकार के होते है।

प्राइवेट क्लाउड का नुकसान क्या है?

यह public cloud की तुलना में महंगा होता है.

Reference:https://www.javatpoint.com/types-of-cloud

निवेदन:- अगर आपके लिए (Types of Cloud Computing in Hindi – क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार) का यह पोस्ट उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी questions हो उन्हें नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

Leave a Comment