Electronic Payment System in Hindi – इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम क्या है?

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस आर्टिकल में (Electronic Payment System in Hindi – इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम क्या है?) के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

Electronic Payment System in Hindi – इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम क्या है?

  • Electronic Payment System एक ऐसा सिस्टम होता है जिसका इस्तेमाल इंटरनेट की मदद से पैसो का भुगतान करने के लिए किया जाता हैं।
  • जब भी हम ऑनलाइन कोई सामान खरीदते हैं तो हम ऑनलाइन ही payment करते हैं और ऑनलाइन payment करने के लिए जिस तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है उसे Electronic payment System कहते हैं।
  • उदाहरण के लिए – google pay का इस्तेमाल करके हम online सामान खरीदते है, मोबाइल रिचार्ज करते हैं। Google pay भी एक इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम है।
  • इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम एक ऐसी व्यवस्था है जिसके माध्यम से हम वस्तु या सेवाओं (services) का भुगतान डिजिटल तरीके से करते है।
  • सरल शब्दो में कहे तो यह एक ऐसा तरीका है जिसमे वस्तु और सेवाओं को खरीदने या लेनदेन करने के लिए हमे cash की आवश्यकता नहीं पड़ती क्योकि सारे भुगतान (payment) ऑनलाइन या डिजिटल तरीके से किये जाते है।
  • इस सिस्टम को हम इ- पेमेंट सिस्टम भी कहते है। इ – पेमेंट सिस्टम दिन प्रति दिन लोकप्रिय होता जा रहा है क्योकि इसने लोगो के जीवन को आसान बना दिया है।
  • किसी भी वस्तु या सेवा का भुगतान करने के लिए डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या मोबाइल बैंकिंग का उपयोग किया जाता है। यह सभी इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम के माध्यम है जिनके द्वारा हम कहीं पर भी ऑनलाइन भुगतान कर सकते है। इसके अलावा भी कई ऐसे तरीके है जिनके द्वारा हम भुगतान कर सकते है जैसे :- इ-वॉलेट , UPI , मोबाइल बैंकिंग आदि।
  • इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल करने के लिए आपके पास एक बैंक खाता और इंटरनेट की सुविधा होनी चाहिए जिससे आप अपनी सारी ट्रांसक्शन करेंगे।
electronic payment system in hindi

इसे भी पढ़े –

Types of Electronic payment System in Hindi – इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम के प्रकार

इसके निम्नलिखित प्रकार होते है जिन्हे निचे समझाया गया है:-

1- Credit Card (क्रेडिट कार्ड)

क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन भुगतान करने का एक लोकप्रिय तरीका है। क्रेडिट कार्ड को बैंक के द्वारा दिया जाता है। हम क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल flipkart और amazon जैसी वेबसाइट पर सामान खरीदने के लिए कर सकते है , अपने bill का भुगतान कर सकते है, इसके द्वारा यात्रा करने के लिए ऑनलाइन ticket बुक किया जा सकता है।

लगभग सभी जगहों पर क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया जा सकता है। जब भी आप क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते है तो वह amount बैंक के द्वारा दिया जाता है। इसके बाद आप बैंक को एक time period (समय-अवधि) के अंदर वो अमाउंट वापस कर देते है।

2- Debit Card (डेबिट कार्ड)

डेबिट कार्ड ऑनलाइन भुगतान करने का दूसरा सबसे लोकप्रिय तरीका है जिसमे यूजर केवल उसी अमाउंट का उपयोग कर सकता है जो उसके बैंक खाते में होगा। इस कार्ड को भी बैंक के द्वारा दिया जाता है जिसका इस्तेमाल हम ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए , bill का भुगतान करने के लिए , ATM से पैसे निकालने के लिए किया जाता है।

3- Smart Card (स्मार्ट कार्ड)

स्मार्ट कार्ड एक प्लास्टिक कार्ड होता है इसमें माइक्रोप्रोसेसर की एक chip लगी होती है। इस चिप में यूजर की जानकारी स्टोर होती है।

इस कार्ड का इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांसक्शन के लिए, क्रेडिट कार्ड का बिल भरने के लिए और बिल का भुगतान करने के लिए किया जाता है। स्मार्ट कार्ड का आकार डेबिट कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस की तरह होता है।

4- E-Wallet (ई-वॉलेट)

यह एक प्रकार का prepaid account होता है जिसमे यूजर के क्रेडिट कार्ड , डेबिट कार्ड और बैंक अकाउंट नंबर की जानकारी को स्टोर किया जाता है। यह आपके मोबाइल डिवाइस में होता है जिसका इस्तेमाल ऑनलाइन भुगतान करने के लिए किया जाता है।

इ- वॉलेट का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले यूजर को अपने बैंक खाते को इसमें लिंक करना पड़ता है और एक प्रोफाइल बनानी पड़ती है। इसके बाद आप इस वॉलेट का उपयोग कर सकते है। यह काफी तेज गति से भुगतान करने में सक्षम है।

5- Netbanking (नेटबैंकिंग)

Netbanking ई-कॉमर्स भुगतान करने का एक लोकप्रिय तरीका है जिसमे यूजर डायरेक्ट अपने बैंक खाते से पेमेंट करता है। नेटबैंकिंग का उपयोग करने के लिए यूजर को डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड की आवश्यकता नहीं पड़ती। नेटबैंकिंग का इस्तेमाल करने के लिए यूजर के पास बैंक खाता होना चाहिए।

इसमें भुगतान करने के लिए यूजर को अपनी नेटबैंकिंग user Id और password डालनी पड़ती है जो उन्हें बैंक द्वारा दी जाती है।

Advantages of Electronic Payment System in Hindi – इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम के फायदे

1- यह पूरी तरह से सुरक्षित है।

2- इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम काफी तेज होता है। अर्थात् इसके द्वारा तेजी से पेमेंट हो जाती है।

3- यह पैसे चोरी होने के जोखिम को कम करता है।

4- यह समय की बचत करता है।

5- यह transparent है जिसके कारण यह और भी ज्यादा सुरक्षित हो जाता है।

6- यह भुगतान लागत (payment cost) को कम करता है। इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम ने cheque या कागज आधारित भुगतान को कम कर दिया है जिसमे काफी खर्चा आता था।

7- यह मॉडर्न और एडवांस दोनों है।

Disadvantages of Electronic Payment System in Hindi – इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम के नुकसान

1- यदि इंटरनेट कनेक्शन धीमा होता है तो पेमेंट करने में समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है।

2- यदि सर्वर सही तरीके से काम नहीं कर रहा या बैंक का सर्वर धीमा है तो पेमेंट pending में चली जाती है।

3- सुरक्षित होने के बावजूद हैकर लगातार यूजर के डेटा को चुराने की कोशिश करते रहते है।

4- इस सिस्टम में fraud होने का खतरा बना रहता है।

5- क्रेडिट कार्ड इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम का एक माध्यम है जिसका उपयोग करने के लिए हमे कुछ intrest (ब्याज) या charge देना पड़ता है।

Exam में पूछे जाने वाले प्रश्न

इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम क्या है?

यह एक ऐसा सिस्टम होता है जिसका इस्तेमाल इंटरनेट की मदद से पैसो का भुगतान करने के लिए किया जाता हैं.

इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम का क्या फायदा है?

यह पैसे चोरी होने के जोखिम को कम करता है.

Reference:https://securionpay.com/blog/e-payment-system/

निवेदन:- अगर आपके लिए (Electronic Payment System in Hindi – इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम क्या है?) का यह पोस्ट उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी questions हो उन्हें नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

Leave a Comment