Laser Printer in Hindi – लेजर प्रिंटर क्या है और इसके प्रकार

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस आर्टिकल में (Laser Printer in Hindi – लेजर प्रिंटर क्या है?) के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

Laser Printer in Hindi – लेजर प्रिंटर क्या है?

  • Laser Printer एक प्रकार का कंप्यूटर प्रिंटर है जिसमें लेजर बीम (laser beam) का इस्तेमाल कागज पर चित्रों और text को प्रिंट करने के लिए किया जाता है।
  • दूसरे शब्दों में कहें तो, “लेजर प्रिंटर एक नॉन-इंपैक्ट प्रिंटर होता है जिसमें कागज की स्याही (paper ink) के स्थान पर लेजर बीम या light (प्रकाश) का इस्तेमाल किया जाता है।”
  • लेजर प्रिंटर को पेज प्रिंटर के नाम से भी जाना जाता है जो कि एक बार में पुरे पेज को प्रिंट कर सकता है।
  • इस प्रिंटर को पहली बार 1971 में Gary Starkweather के द्वारा विकसित (develop) किया गया था।
  • इस प्रिंटर का उपयोग पहली बार 1980 में PC (पर्सनल कंप्यूटर) में किया गया था। उस समय यह प्रिंटर स्टैंडअलोन प्रिंटर (standalone printer) के नाम से लोकप्रिय था।
  • लेज़र प्रिंटर का उपयोग मुख्य रूप से प्रिंटिंग, स्कैनिंग, फोटोकॉपी और फ़ैक्स जैसे कार्यो में किया जाता है।
  • लेजर प्रिंटर हाई क्वालिटी में चित्रों और text को प्रिंट करता है और यह colorful (रंगीन) प्रिंटिंग करता है। इसलिए आजकल इनका इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है।
  • इंकजेट प्रिंटर (inkjet printer) की तुलना में लेज़र प्रिंटर अधिक समय तक चलते है इसलिए इसका उपयोग ज्यादातर व्यवसाय (business) में भी किया जाता है।
  • यह प्रिंटर तेज गति से प्रिंटिंग करता है इसलिए इसका उपयोग ज्यादातर उन स्थानों में किया जाता है जहां कम समय में बड़ी मात्रा में चीज़ो को प्रिंट करने की आवश्यकता होती है। जैसे :- स्कूल, दुकान और हॉस्पिटल आदि।
  • लेज़र प्रिंटर काफी महंगा होता है क्योंकि इसकी प्रिंट करने की स्पीड बहुत ज्यादा अधिक होती है।
  • Laser Printer में सूखी स्याही का उपयोग किया जाता है जिसे बार बार बदलना पड़ता है। इसमें, यदि कोई कागज गिला है तो यह प्रिंटर उस कागज को प्रिंट नहीं करेगा।
  • इस प्रिंटर का रिज़ॉल्यूशन (resolution) 600 DPI (डॉट्स पर इंच) या उससे अधिक होता है।
  • कई ऐसे लेज़र प्रिंटर होते है जो सीधे (direct) कंप्यूटर से जुड़े होते है लेकिन वर्तमान समय में कुछ ऐसे भी लेज़र प्रिंटर है जिन्हें जोड़ने के लिए LAN (लोकल एरिया नेटवर्क) का उपयोग किया जाता है।
  • लेज़र प्रिंटर के कुछ लोकप्रिय उदहारण :- HP color LaserJet Pro M225dw, Brother HL-L2350DW और HP Color LaserJet Pro MFP M479fdw आदि हैं।
Laser Printer in hindi

इसे भी पढ़े –

Types of Laser Printer in Hindi – लेजर प्रिंटर के प्रकार

इसके 5 प्रकार होते हैं –

1- Personal Laser Printer (पर्सनल लेजर प्रिंटर)

पर्सनल लेजर प्रिंटर का इस्तेमाल हम अपने पर्सनल कामों के लिए करते हैं। इसका आकार (size) दूसरे लेजर प्रिंटर की तुलना में छोटा होता है।

यह प्रिंटर एक समय में कागज का केवल एक तरफ ही प्रिंट कर सकता है। इसकी स्पीड भी कम होती है यह एक मिनट में केवल 4 पेजों को ही प्रिंट कर सकता है।

पर्सनल लेज़र प्रिंटर कागज पर चित्रों को प्रिंट करने के लिए इलेक्ट्रिकल चार्ज मॉडल का उपयोग करता है।

इस प्रिंटर की कीमत बहुत कम होती है और इसे रखने के लिए ज्यादा जगह (space) की जरूरत नहीं पड़ती।

2- Office Laser Printer (ऑफिस लेजर प्रिंटर)

ऑफिस लेज़र प्रिंटर का आकार पर्सनल लेज़र प्रिंटर की तुलना में बड़ा होता है और यह प्रिंटर तेज गति से कागज को प्रिंट कर सकता है।

यह एक मिनट में 8 से 12 पेजो को प्रिंट कर सकता है। यह प्रिंटर एक समय में 250 कागजों (papers) को रख सकता है।

इस printer का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे एक समय में बहुत सारें कंप्यूटर के साथ जोड़ा जा सकता है।

यह प्रिंटर कागज के दोनों तरफ प्रिंट कर सकता है। इसका ज्यादातर इस्तेमाल ऑफिस के कामों के लिए किया जाता है।

3- Workgroup laser printer (वर्कग्रुप लेजर प्रिंटर)

यह एक ऐसा प्रिंटर है जिसका उपयोग एक समय में कई यूजर के द्वारा किया जा सकता है। वर्कग्रूप लेज़र प्रिंटर का इस्तेमाल कंप्यूटर नेटवर्क में किया जाता है।

इन प्रिंटर का आकार बड़ा होता लेकिन इन्हे desk (मेज) पर रखा जा सकता है। हालांकि यह प्रिंटर छोटे आकार में भी उपलब्ध होते है।

यह प्रिंटर तेज गति से कागज को प्रिंट करता है। यह एक मिनट में 15 से 30 पेज को प्रिंट कर सकता है।

यह प्रिंटर कागज को दोनों तरफ प्रिंट कर सकता है और यह ऑफिस प्रिंटर की तुलना में काफी महंगा होता है।

4- Production Laser Printer (प्रोडक्शन लेजर प्रिंटर)

प्रोडक्शन लेज़र प्रिंटर एक हाई स्पीड प्रिंटर है जिसे desk (मेज) के बजाय एक फर्श पर रखा जाता है। इस प्रिंटर को ऑपरेट करने के लिए कुशल operator की आवश्यकता पड़ती है।

इस प्रिंटर के कार्य करने की छमता अधिक है। यह दिन रात बिना रुके काम कर सकता है। यह एक मिनट में 50 से 150 पेजो को प्रिंट कर सकता है।

इसमें शीट रखने की स्टोरेज क्षमता अधिक होती है। यह एक बार में 2500 शीटों को रख सकता है। यह अन्य प्रिंटरों को तुलना में काफी महंगा होता है और इसका आकार भी काफी बड़ा होता है।

इस प्रिंटर का उपयोग विभिन्न प्रकार के क्षेत्रों में किया जाता है जैसे:- गैस और बिजली के बिल, बैंक और क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट, मार्केटिंग मेल आदि।

यह प्रिंटर एक दिन में 70 हजार पेजों को प्रिंट कर सकता है और इसकी मैमोरी भी बहुत अधिक होती है।

5- Color Laser Printer (कलरफुल लेजर प्रिंटर)

कलर लेज़र प्रिंटर को हिंदी में रंगीन प्रिंटर कहते है। यह प्रिंटर पेजो को प्रिंट करने के लिए चार प्रकार के रंगों (सियान, मैजेंटा, पीला और काला) का उपयोग करता है।

इस प्रिंटर का उपयोग कलर प्रिंटिंग डाक्यूमेंट्स के लिए किया जाता है। इस प्रिंटर में एक शीट चार बार प्रिंट होती है। यह एक मिनट में 2 से 8 कागजों को प्रिंट कर सकता है।

Features of Laser Printer in Hindi – लेजर प्रिंटर की विशेषताएं

1- लेज़र प्रिंटर एक लोकप्रिय प्रिंटर है।

2- यह प्रिंटर दो प्रकार के तंत्र (mechanism) के साथ आते है simplex और duplex . इसमें simplex का अर्थ है कि यह कागज को केवल एक तरफ ही प्रिंट करेगा, और duplex का अर्थ है कि यह कागज को दोनों तरफ प्रिंट करेगा।

3- जब यह किसी कागज को प्रिंट करता है तो उस समय कम आवाज पैदा (produce) करता है।

4- यह प्रिंटर एक बार में पुरे कागज को प्रिंट कर सकता है।

5- लेज़र प्रिंटर कागज पर कुछ प्रिंट करने के लिए लेज़र बीम तकनीक का उपयोग करता है।

6- लेजर प्रिंटर टोनर कार्ट्रिज का उपयोग करते हैं, टोनर का एक कार्ट्रिज लगभग 3000 से 5000 पेज प्रिंट कर सकता है।

7- यह कार्बन पेपर में एक समय पर बहुत सारें पेजों को प्रिंट कर सकता है।

Advantages of Laser Printer in Hindi – लेजर प्रिंटर के फायदे

इसके निम्नलिखित फायदे है:-

1- Performance (प्रदर्शन)

लेज़र प्रिंटर की performance काफी अच्छी होती है। यह बिना किसी समस्या के चित्रों और text को कागज पर आसानी से प्रिंट करता है।

2- Capacity (क्षमता)

लेज़र प्रिंटर के कार्य करने की क्षमता अधिक होती है। यह एक समय में बहुत सारें पेजो को आसानी से प्रिंट कर सकता है।

3- Speed (गति)

यह प्रिंटर कागज को प्रिंट करने के लिए लेज़र बीम का उपयोग करते है जिसके कारण इनकी स्पीड काफी अच्छी है। यह तेज गति के साथ कागज को प्रिंट करने में सक्षम होते है।

4- Reliability (विश्वसनीयता)

लेज़र प्रिंटर अधिक विश्वसनीय (reliable) होते है। यह काफी लम्बे समय तक चलते है जिसका अर्थ है की यह जल्दी खराब नहीं होते है। यदि यूजर इस प्रिंटर की देखभाल सही से करता है तो यह लम्बे समय तक बिना किसी परेशानी के चलते रहेंगे।

5- Quality (क्वालिटी)

लेज़र प्रिंटर की quality काफी अच्छी होती है। यह सटीक (accurate) तरीके से कागज को प्रिंट करते है।

6- Noise (आवाज)

यह प्रिंटर सामग्री को प्रिंट करते वक़्त ज्यादा ध्वनि (noise) पैदा नहीं करते जिसके कारण यूजर को एक अच्छा अनुभव प्राप्त होता है।

7- Accurate Output (सटीक परिणाम)

यह प्रिंटर यूजर को सटीक (accurate) आउटपुट प्रदान करता है जिसके कारण यह और भी ज्यादा विश्वसनीय हो जाते है।

Disadvantages of Laser Printer in Hindi – लेजर प्रिंटर के नुकसान

इसके नुकसान:-

1- Cost (कीमत)

लेज़र प्रिंटर काफी महंगे होते है। एक इंकजेट प्रिंटर की तुलना में लेज़र प्रिंटर 3 गुना महंगे होते है।

2- Paper Option (पेपर ऑप्शन)

लेज़र प्रिंटर में सभी प्रकार के पेपर का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। इस प्रिंटर में विशेष प्रकार के पेपर का उपयोग किया जाता है। यदि यूजर इसमें low quality वाले पेपर का उपयोग करता है तो यह प्रिंटर जल्दी खराब हो सकते है।

3- Size (आकार)

इंकजेट प्रिंटर की तुलना में लेज़र प्रिंटर का आकार काफी बड़ा होता है जिन्हे रखने के लिए ज्यादा जगह की आवश्यकता पड़ती है। इसके अलावा यह प्रिंटर वजन में काफी भारी भी होते है।

4- Graphic Handling (ग्राफिक हैंडलिंग)

लेज़र प्रिंटर हाई क्वालिटी के ग्राफ़िक्स प्रिंट कर सकता है लेकिन उन्हें हैंडल नहीं कर सकता। सरल शब्दो में कहे तो इस प्रिंटर को ग्राफ़िक्स को हैंडल करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

5- Power Consuming (बिजली की खपत)

लेज़र प्रिंटर अधिक मात्रा में बिजली या पावर की खपत (consume) करता है जिसके कारण यह ज्यादा मात्रा में गर्मी पैदा करता है और कमरे को जल्दी गर्म कर देता है।

6- Health Issues (स्वास्थ्य समस्याएं)

लेज़र प्रिंटर कागज को प्रिंट करने के लिए टोनर का उपयोग करते है जो इंसानो के लिए खतरनाक है। इससे कई इंसानो को कई प्रकार की समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है। जैसे सांस की बीमारी, फेफड़े और खराब हो जाना आदि।

Difference Between Laser & Inkjet Printer in Hindi

Laser PrinterInkjet Printer
लेज़र प्रिंटर इंकजेट प्रिंटर की तुलना में महंगा होता है।यह प्रिंटर सस्ते होते है।
इसमें स्याही (ink) टोनर के रूप में होती है जो लम्बे समय तक सूखती नहीं है।इसमें जो स्याही होती है वो जल्दी सूख जाती है।
इन प्रिंटर में स्याही लम्बे समय तक चलती है जिसके कारण स्याही को बार बार बदलने की आवश्यकता नहीं पड़ती।इन प्रिंटर में स्याही लम्बे समय तक नहीं चलती है जिसके कारण स्याही को बार बार बदलना पड़ता है।
इंकजेट प्रिंटर की तुलना में इसका खर्चा कम आता है।इसका खर्चा ज्यादा आता है।
इन प्रिंटर का इस्तेमाल सामान्य पेज , PDF और दस्तावेजों को प्रिंट करने के लिए किया जाता है।इंकजेट प्रिंटर का उपयोग ज्यादातर रंगीन चीज़ो को प्रिंट करने के लिए किया जाता है।
इस प्रिंटर के पास nozzle नहीं है।इस प्रिंटर के पास nozzle होता है जो स्याही को छिड़कने में मदद करता है।

Laser Printer Examples in Hindi – लेजर प्रिंटर के उदहारण

1- HP 1020 Plus Single Function
2- HP Color LaserJet Pro MFP M479fdw
3- HP Color LaserJet Pro M479fdw
4- HP Color LaserJet Pro M454dw
5- HP MFP 1200w
6- Canon MF244DW
7- Brother HL-L2350DW

Exam में पूछे जाने वाले प्रश्न

लेज़र प्रिंटर क्या है?

यह एक प्रकार का कंप्यूटर प्रिंटर है जिसमें लेजर बीम (laser beam) का इस्तेमाल कागज पर चित्रों और text को प्रिंट करने के लिए किया जाता है.

लेज़र प्रिंटर का क्या फायदा है?

लेज़र प्रिंटर के कार्य करने की क्षमता अधिक होती है। यह एक समय में बहुत सारें पेजो को आसानी से प्रिंट कर सकता है.

Reference:– https://www.techtarget.com/whatis/definition/laser-printer

निवेदन:- अगर आपके लिए (Laser Printer in Hindi – लेजर प्रिंटर क्या है?) का यह पोस्ट उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी questions हो उन्हें नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

Leave a Comment