stress testing in hindi

Stress testing in hindi:- (स्ट्रेस टेस्टिंग)

stress testing का प्रयोग सिस्टम की stability (स्थिरता) तथा reliability (विश्वसनीयता) को टेस्ट करने के लिए किया जाता है.

यह एक non functional टेस्टिंग तकनीक है जो कि performance testing का एक हिस्सा है.

stress testing में सिस्टम को overload करके उसको verify तथा check किया जाता है कि सिस्टम stress को झेल पा रहा है या नहीं.

यह टेस्ट मुख्यतया यह निर्धारित करता है कि सिस्टम कितना robust (शक्तिशाली) है तथा heavy load में भी सिस्टम errors को कैसे हैंडल करता है.

stress testing यह भी सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है कि संकट के समय में कही सिस्टम crash तो नहीं कर जाएगा.

स्ट्रेस टेस्टिंग को endurance testing तथा torture testing भी कहते है.

इसे भी पढ़ें:- security testing किसे कहते है?

recovery testing किसे कहते है?

stress testing क्यों की जाती है?

इस टेस्टिंग को करने के निम्नलिखित कारण है:-

  • सिस्टम की परफॉरमेंस को check करने के लिए.
  • यह verify करने के लिए कि जब सिस्टम crash होता है तो वह डेटा को save करता है या नहीं.
  • यह check करने के लिए जब सिस्टम crash होता है तो वह error message दिखाता है या नहीं.
  • यह check करने के लिए जब सिस्टम failure होता है तो security बनी रहती है या नहीं.

stress testing कैसे की जाती है?

  • एक ही समय पर बहुत सारें users सिस्टम को run करते है.
  • सभी usres एक ही समय में सिस्टम पर कठिन operations करते है.
  • सभी users एक ही समय में एक फाइल को खोलते है.  

निवेदन:- अगर आपको पोस्ट अच्छी लगी हो तो हमें कमेंट के द्वारा बताइए तथा इसे अपने दोस्तों के साथ share करें.

Leave a Comment