von-neumann architecture क्या है?

इस पोस्ट में आपको बताऊंगा कि what is von neumann architecture in hindi तथा इसके units के बारें में पढेंगे. computer organisation का यह एक महत्वपूर्ण topic है तो चलिए शुरू करते है:-

Von neumann architecture in hindi

यह एक कंप्यूटर आर्किटेक्चर है जिसे 1945 में john von neumann ने विकसित किया था. john एक गणितज्ञ और भौतिकी विज्ञानी थे.

यह आर्किटेक्चर stored-program computer कांसेप्ट पर आधारित है. इसमें प्रोग्राम, memory में स्टोर होते है. CPU मैमोरी से एक समय में केवल एक instruction को fetch करता है और उसे execute करता है.

इस डिजाईन का प्रयोग आजकल के computers में भी किया जाता है.

von neumann architecture में निम्नलिखित units होते है:-

  1. control unit
  2. arithmetic and logic unit (ALU)
  3. registers (main memory unit)
  4. input/output devices
  5. CPU (control processing unit)
  6. Buses

Von Neumann architecture

आइये अब इन्हें विस्तार से पढ़ते है:-

control unit (कंट्रोल यूनिट)-

control unit जो है वह ALU, memory, तथा input/output devices के ऑपरेशन को control करती है. तथा ये सभी processor control signals को कंट्रोल करती है.

arithmetic and logic unit (ALU)

arithmetic logic unit जो है वह CPU का एक part होता है जो कि CPU की जरुरत के हिसाब से calculations (गणनाएं) करता है. जैसे:- जोड़ना. घटाना, गुणा करना, भाग करना आदि. यह logical operations, bit-snifing operations तथा arithmetic operations को पूरा करता है.

Registers (main memory unit)-

रजिस्टर, CPU में high speed storage areas होते है. कोई भी data प्रोसेस होने से पहले registers में स्टोर होता है.

ये registers निम्नलिखित होते है:-

1-accumulator- यह ALU के द्वारा की गयी calculation के result को स्टोर करता है.

2-program counter (PC)- यह अगले instruction के लिए memory locations को track करता है.

3-memory address register (MAR)– यह instruction के लिए memory location को स्टोर करता है.

4-memory data register (MDR)– यह मैमोरी से fetch हुए instruction को store करता है.

5-current instruction register (CIR)– यह हाल-फिलहाल में fetch हुए instructions को स्टोर करता है.

6-instruction buffer register (IBR)- वह instruction जो जल्दी से execute नहीं हो सकता वह IBR में स्टोर हो जाता है.

इसे पढ़ें:- register क्या होता है?

input/output devices-

input device के द्वारा main memory में प्रोग्राम read होता है. तथा output device का प्रयोग कंप्यूटर से output को प्राप्त करने के लिए किया जाता है.

CPU (control processing unit)-

cpu एक electronic circuit होता है जो कि कंप्यूटर प्रोग्राम को execute करने का कार्य करता है. इसे microprocessor या processor भी कहते है.

Buses-

कंप्यूटर के एक part से दूसरे part में data का ट्रांसमिशन buses के द्वारा होता है. इसके प्रकार निम्नलिखित है:-

  • Data Bus- यह memory unit, I/O devices तथा processor में data को ले जाती है.
  • address bus- यह memory तथा processor के मध्य data के address को ले जाती है.
  • control bus– यह CPU के लिए control commands को ले जाती है.

इसे पढ़े:- DMA क्या है?

von neumann bottleneck

इस architecture में एक समय में केवल एक instruction ही execute होता है. तथा सभी instruction एक sequence में ही perform किये जा सकते है. इससे CPU की performance में कमी आती है. इसे ही von neumann bottleneck कहते है.

यह von neumann architecture बहुत ही important है इसका प्रयोग हमारे कंप्यूटरों तथा super computers में किया जाता है.

निवेदन:- अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share करें तथा अपने questions comment के द्वारा पूछिए.

Leave a Comment