File Handling in C++ in Hindi – C++ में फाइल हैंडलिंग क्या है?

Hello दोस्तों! आज हम इस आर्टिकल में File Handling in C++ in Hindi (C++ में फाइल हैंडलिंग क्या है?) के बारें में पढेंगे और इसके operations को भी देखेंगे. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

File Handling in C++ in Hindi

Files को storage device में हमेशा के लिए स्टोर किया जाता है. File handling एक ऐसा mechanism (तंत्र) प्रदान करता है जिससे कि हम program के आउटपुट को file में स्टोर कर सकते हैं और एक file में मौजूद data पर हम बहुत सारें operations को पूरा कर सकते है.

Stream एक device का abstraction होता है जहाँ input/output operations को परफॉर्म किया जाता है. 

C++ में, files में read और write operations को पूरा करने के लिए मुख्यतया तीन class का प्रयोग किया जाता है. ये तीन class हैं:- ifstream, ofstream, fstream.

ofstream – यह क्लास output stream को प्रस्तुत करती है. इसका प्रयोग files को create करने के लिए और files में information (सूचना) को write करने के लिए करते हैं.

ifstream – यह क्लास input stream को प्रस्तुत करती है. इसका प्रयोग files में से information या data को read करने के लिए किया जाता है.

fstream – यह क्लास output stream और input stream दोनों को प्रस्तुत करती है. इसलिए यह files को create कर सकता है, file में डाटा को read कर सकता है और डाटा को write कर सकता है.

C++ में, file processing को परफॉर्म करने के लिए program में header files <iostream> और <fstream> को include करना अनिवार्य होता है.

File Handling में operations

फाइल हैंडलिंग में निम्नलिखित operations किये जाते हैं.

  • file को create या open करना.
  • data को read करना.
  • data को write करना.
  • file को close करना.

file को open करना

फाइल में किसी भी operation को perform करने से पहले हमें file को open करना होता है. file को open करने के लिए open() फंक्शन का प्रयोग करते हैं.

नीचे आपको open() function का syntax दिया गया है:-

void open(const char *filename, ios::openmode mode);

file से data को read करना

हम c++ में stream extraction operator (>>) करके files में से data को read कर सकते हैं. हम इस operator का प्रयोग उसी प्रकार कर सकते हैं जिस प्रकार हम keyboard से user input को read करते हैं.

file में data को write करना –

हम file में stream insertion operator (<<) का प्रयोग करके file में data को write कर सकते हैं. file में लिखे जाने वाला text हमेशा double quotes के अंदर होना चाहिए.

file को close करना –

program को terminate करने से पहले हमें सभी open की गयी files को close करना चाहिए. इसके लिए हम close() function का प्रयोग करते हैं.

Close() function का syntax निम्नलिखित हैं:-

void close();

file को write करने का example

#include <iostream>
#include <fstream>
using namespace std;
int main() {
fstream my_file;
my_file.open("my_file.txt", ios::out);
if (!my_file) {
cout << "File not created!";
}
else {
cout << "File created successfully!";
my_file << "ehindistudy";
my_file.close();
	}
return 0;
}

इसका आउटपुट –
File created successfully!

References:- https://www.geeksforgeeks.org/file-handling-c-classes/

file handling in C++ in Hindi

निवेदन:- अगर आपके लिए यह पोस्ट helpful रही हो तो इसे अपने friends और classmates के साथ अवश्य share कीजिये जिससे कि उनकी भी help हो पाए. अगर आपका कोई question हो तो उसे नीचे comment के द्वारा बताइये. धन्यवाद.

Leave a Comment