DHTML क्या है और इसकी विशेषताएं

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस पोस्ट में What is DHTML in Hindi (DHTML क्या है और इसके फायदे) के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

What is DHTML in Hindi – DHTML क्या है?

  • DHTML का पूरा नाम Dynamic HyperText Markup Language (डायनामिक हाइपरटेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज) है। इसका इस्तेमाल डायनामिक और आकर्षक web page बनाने के लिए किया जाता है।

  • DHTML कोई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं है बल्कि यह HTML, CSS, Javascript और DOM से मिलकर बना हुआ है.

  • यह HTML से पूरी तरह अलग है HTML का इस्तेमाल static वेब पेज बनाने के लिए किया जाता है जबकि DHTML का इस्तेमाल dynamic वेब पेज बनाने के लिए किया जाता है.

  • DHTML में HTML, CSS, Javascript और DOM की विशेषताएं सम्मिलित रहती हैं. जिनका उपयोग करके आकर्षक वेब पेज बनाये जाते हैं.

  •  इसके अलावा इसका उपयोग animated वेब पेज डिज़ाइन करने के लिए किया जाता है। यह भाषा यूजर को उनके documents में text को add करने और images को animate करने में मदद करती है।

  • DHTML का अविष्कार Microsoft के द्वारा वर्ष 1997 में किया गया था।

  • जिस समय IE (Internet Explorer) के चौथे version (वर्शन) को मार्किट में लांच किया गया था ठीक उसी समय DHTML को भी लांच कर दिया गया था।

  • DHTML का इस्तेमाल करके यूजर वेब पेज के color, font, और size को अपनी इच्छा के अनुसार बदल सकता है।

  • इसमें debugging करना किसी भी यूजर के लिए थोड़ा मुश्किल हो सकता है।

इसे पढ़ें:-

Features of DHTML in Hindi – DHTML की विशेषताएं

इसकी विशेषताएं निम्नलिखित हैं:-

  1. इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसके द्वारा हम dynamic वेब पेज को create कर सकते हैं.

  2. इसके द्वारा यूजर अपने web page के font, size और color को बदल सकते हैं.

  3. यह reusability की सुविधा प्रदान करता है अर्थात् इसमें हम code को दुबारा से use कर सकते हैं.

  4. यह ब्राउज़र में data binding की सुविधा प्रदान करता है.

  5. इसका इस्तेमाल करके tags और उनकी properties को change किया जा सकता है।

  6. इसका इस्तेमाल करके एनिमेशन, गेम, और एप्लिकेशन आदि को बनाया जा सकता है।

  7. DHTML वेब पेज के कार्य करने की क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।

Components of DHTML in Hindi – DHTML के घटक

इसके 4 घटक होते हैं:- HTML, CSS, Javascript और DOM.

1- HTML

HTML का पूरा नाम हाइपरटेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज है। यह एक markup लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल web page बनाने के लिए किया जाता है।

यह DHTML का एक मुख्य component है. इसका इस्तेमाल वेब पेज के स्ट्रक्चर को बनाने के लिए किया जाता है.

2JavaScript

जावास्क्रिप्ट एक स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल web page को dynamic बनाने के लिए किया जाता है। इस भाषा का निर्माण Brendan Eich के द्वारा वर्ष 1995 में किया गया था।

DHTML में जावास्क्रिप्ट का इस्तेमाल HTML को access, control और manipulate करने के लिए किया जाता है. जावास्क्रिप्ट को ज्यादातर सभी browsers के द्वारा सपोर्ट किया जाता है.

3CSS

CSS का पूरा नाम Cascading Style Sheet है। इसका इस्तेमाल वेब पेज को डिजाईन और style करने के लिए किया जाता है. DHTML में इसका इस्तेमाल web page को सुंदर बनाने के लिए किया जाता है.

4- DOM

DOM का पूरा नाम document object model है। यह एक मॉडल है जिसका उपयोग HTML elements की properties को परिभाषित (define) करने के लिए किया जाता है। DOM की सबसे बड़ी कमी यह है कि इसे सभी ब्राउज़र support नहीं करते.

Applications of DHTML in Hindi – DHTML के उपयोग

इसका इस्तेमाल निम्नलिखित जगहों पर किया जाता है:-

1- DHTML का उपयोग animated और interactive वेब पेज डिजाइन करने के लिए किया जाता है.

2- इसका उपयोग ब्राउज़र में data binding के लिए किया जाता है।

3- इस भाषा का उपयोग documents में text को add करने के लिए किया जाता है।

4- इस भाषा का उपयोग author के द्वारा पेज में effect को add करने के लिए भी किया जाता है।

5- DHTML का इस्तेमाल action game बनाने के लिए किया जाता है।

6- इस भाषा का उपयोग वेबसाइट पर ticker add करने के लिए किया जाता है जिसकी मदद से वेबसाइट पर मौजूद content अपने आप refresh हो जाता है।

Advantages of DHTML in Hindi – DHTML के फायदे

इसके फायदे नीचे दिए गये हैं:-

1:- DHTML वेबसाइट और वेब पेज की स्पीड बढ़ाने में मदद करता है।

2:- इसमें dynamic वेब पेज बनाने के लिए किसी प्रकार के plug-in की ज़रूरत नहीं पड़ती।

3:- यह बहुत ज्यादा flexible होता है अर्थात् इसमें change (बदलाव) करना आसान होता है.

4:- इसे ज्यादातर सभी ब्राउज़र के द्वारा सपोर्ट किया जाता है.

5:- इसमें bandwidth का प्रभाव बहुत कम होता है जिसकी मदद से वेब पेज के कार्य छमता को आसानी से बढ़ाया जा सकता है।

6:- यह HTML की तुलना में यूजर को एडवांस functionality (कार्यक्षमता) प्रदान करता है।

7:- इसमें किसी विशेष software की ज़रूरत नहीं पड़ती।

8:- इसमें वेब पेज को modify करने के लिए अलग-अलग पेज बनाने की ज़रूरत नहीं पड़ती।

Disadvantages of DHTML in Hindi – DHTML के नुकसान

इसके नुकसान निम्नलिखित हैं:-

1- यह पुराने browsers को सपोर्ट नहीं करता.

2- DHTML के द्वारा बनाई गई वेबसाइट के कोड काफी लम्बे और जटिल (complex) होते है। 

3- इसको समझने के लिए यूजर को HTML, CSS, और JavaScript का ज्ञान होना चाहिए.

4- इसका इस्तेमाल करने के लिए tools की ज़रूरत पड़ती है जो काफी महंगे होते है।

DHTML का इस्तेमाल क्यों करते हैं?

DHTML का उपयोग डायनामिक वेब पेज बनाने के लिए किया जाता है, लेकिन हम इस काम को जावास्क्रिप्ट की मदद से भी कर सकते है क्योकि जावास्क्रिप्ट भी DHTML की तरह डायनामिक वेब पेज बनाने में सक्षम होती है।

फिर सवाल यह उठता है की आखिर हम जावास्क्रिप्ट की जगह DHTML का उपयोग क्यों करते है क्योकि –

DHTML भाषा में यूजर वेब पेज के डिज़ाइन , कंटेंट और स्टाइल को चेंज कर सकता है जबकि जावास्क्रिप्ट में ऐसा कोई फीचर नहीं है। इस भाषा में यूजर वेबसाइट पर मौजद कंटेंट को बिना डिलीट किये change कर सकता है , जबकि जावास्क्रिप्ट में यूजर को वेबसाइट के कंटेंट को चेंज करने के लिए वेबसाइट पर मौजूद कंटेंट को डिलीट करना पड़ता है।

Difference between DHTML & HTML in Hindi – DHTML और HTML में अंतर

DHTMLHTML
DHTML की फुल फॉर्म Dynamic Hypertext Markup language है।HTML की फुल फॉर्म Hypertext Markup language है।
यह प्रोग्रामिंग भाषा नहीं है, बल्कि यह web development की एक तकनीक भी है।यह केवल एक markup भाषा है।
इसका उपयोग animated और interactive वेब पेज बनाने के लिए किया जाता है।इसका उपयोग वेब पेज को develop (विकसित) करने के लिए किया  है।
यह डायनामिक web page बनाने में मदद करता है। यह static web page बनाने में मदद करती है।
यह server-side scripting कोड को स्टोर करता है।इस भाषा में server-side scripting कोड नहीं होता।
DHTML की फाइलें सिस्टम में .dhtm extension के साथ स्टोर की जाती है।HTML की फाइलें सिस्टम में .htm और .html extension के साथ स्टोर की जाती है।
इसमें वेब पेज को HTML, CSS, DOM और JavaScript तकनीक का उपयोग करके बनाया जाता है।इसके वेब पेज को बनाने के लिए किसी प्रकार की तकनीक की ज़रूत नहीं पड़ती।
इसको database connectivity की ज़रूरत पड़ती है क्योकि यह यूजर के साथ interact करता है।इसको database connectivity की ज़रूरत नहीं पड़ती।
HTML की तुलना में DHTML के द्वारा बनाये गए वेब पेज काफी बेहतर होते है। DHTML की तुलना में HTML के द्वारा बनाये गए वेब पेज ज्यादा बेहतर नहीं होते और यह वेब पेज सरल होते है।

DHTML का उदाहरण

<HTML>  
<head>  
<title>  
Method of a JavaScript  
</title>  
</head>  
<body>  
<script type="text/javascript">  
document.write("eHindiStudy");  
</script>  
</body>  
</html>  

इसका आउटपुट- eHindiStudy

Exam में पूछे जाने वाले प्रश्न

DHTML क्या है?

यह एक तकनीक है जिसके द्वारा dynamic और interactive वेब पेज को create किया जाता है.

DHTML के components कौन-कौन से होते हैं?

इसके चार घटक होते हैं:- HTML, CSS, Javascript और DOM.

Reference:- https://www.javatpoint.com/dhtml

dhtml in hindi

निवेदन:- अगर आपके लिए what DHTML in Hindi का यह आर्टिकल उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी questions हो उन्हें नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

Leave a Comment