FDMA, TDMA, CDMA, SDMA in hindi

multiple access techniques (method) in hindi

FDMA, TDMA, CDMA, SDMA in hindi:-

FDMA (frequency division multiple access) in hindi:- FDMA का पूरा नाम फ्रीक्वेंसी डिवीज़न मल्टीप्ल एक्सेस है. यह cellular system के लिए एक multiple access techniques है जिसमें फ्रीक्वेंसी को विभाजित किया जाता है. इसमें लिंक की उपलब्ध bandwidth को विभिन्न नोड्स (स्टेशन) के मध्य फ्रीक्वेंसी बैंड्स के रूप में विभाजित किया जाता है.

इसमें प्रत्येक स्टेशन को डेटा भेजने के लिए एक बैंड एलोकेट किया जाता है तथा प्रत्येक बैंड हमेशा एक स्टेशन के लिए रिज़र्व रहता है.

इसमें प्रत्येक स्टेशन की ट्रांसमीटर फ्रीक्वेंसी को सिमित रखने के लिए एक बैंडपास फ़िल्टर का उपयोग किया जाता है.

FDMA में एक स्टेशन से दुसरे स्टेशन के मध्य overlapping से बचने के लिए allocated बैंड्स के मध्य एक छोटा बैंड जिसे गार्ड बैंड कहते है स्थापित किया जाता है.
image

TDMA (time division multiple access):- TDMA का पूरा नाम टाइम डिवीज़न मल्टीप्ल एक्सेस है. यह एक multiple access techniques है, इसमें चैनल की bandwidth को विभिन्न नोड्स (स्टेशन) के मध्य time slots के रूप में विभाजित किया जाता है.

TDMA में प्रत्येक चैनल की बैंडविड्थ समान होती है जो विभिन्न स्टेशन के मध्य time slots को share करते है.

TDMA में विभिन्न स्टेशन के मध्य synchronisation प्राप्त करना बहुत मुश्किल होता है.

इसमें प्रत्येक स्टेशन को उसका प्रारंभिक time slot तथा अंतिम time slot की लोकेशन पता होनी जरुरी होता है.

इसमें delay (देरी) को कम करने के लिए guard time को स्थापित किया जाता है.
image

CDMA (code division multiple access) in hindi:- CDMA का पूरा नाम कोड डिवीज़न मल्टीप्ल एक्सेस है यह भी एक मल्टीप्ल एक्सेस तकनीक है जो कि CDMA तथा TDMA से मिलकर बना हुआ है. तथा यह इन दोनों तकनीक से बेहतर है. इसका प्रयोग ज्यादातर 3G टेलीकम्यूनिकेशन तथा अन्य तकनीकों में किया जाता है.

CDMA में एक ही चैनल सभी transmissions को एक साथ ले जाता है.

इसमें लिंक की पूरी bandwidth एक ही चैनल काम में ले लेता है जबकि FDMA में चैनल bandwidth को बाँट लेते है.

CDMA में सभी stations एक साथ डेटा भेज सकते है लेकिन इसमें time sharing नहीं होती है जबकि TDMA में time sharing होती है.

CDMA में अलग-अलग कोड्स के द्वारा कम्युनिकेशन होता है.
image

SDMA (space division multiple access) in hindi:- SDMA का पूरा नाम स्पेस डिवीज़न मल्टीप्ल एक्सेस है. यह भी एक multiple access techniques है जिसका प्रयोग ज्यादातर वायरलेस (जैसे;- मोबाइल) तथा सेटेलाइट कम्युनिकेशन में किया जाता है.

SDMA में सभी यूजर (स्टेशन) एक ही समय में एक ही चैनल का प्रयोग करके कम्यूनिकेट कर सकते है.

SDMA की एक खासियत यह है कि इसमें कोई overlapping यानि कि हस्तक्षेप नहीं होता है.

इसमें एक सेटेलाइट एक ही फ्रीक्वेंसी की बहुत सारीं सेटेलाइटो के साथ कम्यूनिकेट कर सकता है.

SDMA सभी यूजरों के लिए विकर्णित (radiate) उर्जा को स्पेस में नियंत्रित करता है.

इसमें users (स्टेशन) को serve करने के लिए यह spot beam antenna का प्रयोग किया जाता है.

निवेदन:- अगर आपके लिए यह पोस्ट helpful रही हो तो हमें comment के द्वारा बताइये तथा इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ share करें. धन्यवाद.

9 thoughts on “FDMA, TDMA, CDMA, SDMA in hindi”

  1. SIR GIVE A HINDI NOTES
    1. HDLC PROTOCOL
    2. ARP & RARP PROTOCOL WITH ITS DIFFERENT
    3. ROUTING AND ITS ALGORITHMS

    1. डायरेक्ट मेमोरी एक्सेस एक ऐसी विधि है जिससे कि इनपुट/आउटपुट (i/o) डिवाइस डेटा को सीधे main memory में या से सीधे receive या send कर सकते है. अर्थात इसमें cpu का प्रयोग नहीं किया जाता है.
      यह प्रक्रिया एक chip के द्वारा संचालित होती है जिसे हम DMA कंट्रोलर (DMAC) कहते है. DMAC जो है वह एक bypass की तरह कार्य करता है जिससे कि डेटा बिना cpu से गुजरे सीधे ट्रान्सफर हो जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *