DATABASE LANGUAGES IN HINDI

Database languages:-

किसी system में डेटाबेस को create और maintain करने के लिए database languages का प्रयोग किया जाता है। डेटाबेस में निम्नलिखित languages का प्रयोग किया जाता है।

DDL:

DDL का पूरा नाम data definition language है। जो कि conceptual schema को define करने के लिए यूज़ किया जाता है तथा यह इस बात की जानकारी भी देता है कि physical devices में इस schema को कैसे implement किया जाता है।
SQL में जो सबसे महत्वपूर्ण DDL statements है, वो निम्न हैं:
1. CREATE:- डेटाबेस में objects को create करने के लिये।
2. ALTER:- डेटाबेस के structure में बदलाव करने के लिए।
3. DROP:- database में से objects को delete करने के लिए।
4. COMMENT:- data dictionary में comments को add करने के लिए।
5. RENAME:- object का rename (नाम में बदलाव) करने के लिए।

DML:

DML का पूरा नाम data manipulation language है। और वह language जो डेटाबेस में डेटा को manipulate करने के काम आती है वह लैंग्वेज DML(data manipulation language) कहलाती है।
इसके कुछ उदाहरण निम्नलिखित है:-
1. SELECT:- एक डेटाबेस में से डेटा को retrieve करना।
2. INSERT:- table में डेटा को insert करना।
3. UPDATE:- table में मौजूदा डेटा को update करना।
4. DELETE:- table में से सभी records को delete करना।
5. CALL:- java subprogram को कॉल करने के लिए।
6. LOCK TABLE:- concurrency को नियंत्रित करने के लिए।

DCL:-

DCL का पूरा नाम data control language कहते है। डेटाबेस में संग्रहित डेटा के एक्सेस को control (नियंत्रित) करने के लिए DCL का प्रयोग किया जाता है।
इसके कुछ उदाहरण निम्नलिखित है।
1. GRANT:- database के लिए users को privilege प्रदान करने के लिए।
2. REVOKE:- GRANT command द्वारा दिए गए विशेषाधिकार को वापस लेने के लिए REVOKE command का प्रयोग किया जाता है।

NOTE:- आपको ये पोस्ट कैसी लगी आप हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य बतायें। हमें आपके कमेंट्स का बेसब्री से इन्तजार रहता है। अगर आपका कोई सवाल या कोई suggestions है तो हमें बतायें हम उसको एक या दो दिन के अंदर यहाँ प्रकाशित करेंगे और हाँ पोस्ट शेयर जरूर करें।

30 thoughts on “DATABASE LANGUAGES IN HINDI

  1. sir ji mane comment keya to ta:
    1.comparsion of conceptual and relational data modeling.
    2.integrity constraints:entity integrity & relational integrity.
    3.fundamental concepts- relations,null value,keys.
    4.Reality,requirements definition,and conceptual data modeling-reality & models,conceptual data models..
    fundamentals -object,specialization & generalization,reltaionship,cardinality,Attributes & their example. Aggregation & their example,view integration:An example…

  2. TREE-basis terminology,Binary tree,basic operation on binary tree,Traversal of binary tree:In order,Preorder & post order,Application of binary tree, Threaded binary tree,B-tree & Height Balanced tree,Binary tree representation of trees…
    Thank you Yogal Sir ji..

  3. Sir ji DBMS may
    Physical Database System:

    Introducation,Physical Access of the Database;

    Physical Storage Media:Secondary Storage,Physical Storage Blocks;

    Disk Performance Factors:Access Motion Time,Head Activation Time,Rotational Delay,Data Transfer Rate,Data Transfer Time;

    Data storage Formats on Disk:Track Format,Record Format,Input/Output Management;

    File Organizing and Addressing Methods:Sequential File Oraganization,Indexed- Sequential File Organization,Direct File Organization,Staic Hash Function and Dynamic Hash Function;

    Implementing Logical Relationship:Linked list,Inverted Lists,Balanced-tree Index(B -Tree)….

    esk ka notes dar de …aje he please, because mare 20 Nov ko DBMS ka exam hai….

  4. Thanks for this post it’s very helpful for me…..
    Can u please explain about relational data manipulation and tuple calculus all details in hindi….

Leave a Comment