Addressing Modes in Hindi – एड्रेसिंग मोड क्या है? – 8085

Hello friends, आज हम इस पोस्ट में what is addressing modes in hindi and types (एड्रेसिंग मोड्स क्या है और इसके प्रकार कितने है?) के बारें में पढेंगे, यह computer architecture और microprocessor 8085 का महत्पूर्ण topic है. तो चलिए शुरू करते है:-

what is Addressing mode in Hindi

addressing modes in hindi
इमेज

प्रत्येक instruction दो भागों में विभाजित होता है:- पहला भाग opcode और दूसरा भाग operand होता है. opcode ऑपरेशन के प्रकार के बारें में बताता है और operand डाटा होता है जिसमें ऑपरेशन perform होता है. वह विधि जिसके द्वारा operand, एक instruction में specify होता है उसे addressing mode कहते है.

दूसरे शब्दों में कहें तो, “instruction के द्वारा operate होने वाले data को specify करने की विधि ‘addressing mode’ कहलाती है.”

types of addressing modes in Hindi

8085 microprocessor में 5 प्रकार के addressing modes होते हैं:-

  1. Immediate addressing mode 

इस mode में, 8 या 16 bit data इंस्ट्रक्शन के अंदर ही specify रहता है. यदि data 8 bit का होता है तब instruction 2 bytes की होती है. यदि डाटा 16 bit का होता है तब instruction 3 बाइट का होता है.

उदाहरण:-
MVI B, 45H (data 45H को immediately, रजिस्टर B में move करना).
LXI H, 3050H (H-L pair को operand 3050H के साथ immediately load करना.)
JMP address (operand address पर immediately jump करना).

  1. Register addressing mode

इस mode में, data एक रजिस्टर से दूसरे रजिस्टर पर copy होता है. इसमें registers ही data होता है. और ऑपरेशन को microprocessor के अन्य registers पर perform किया जाता ई.

उदाहरण:-
MOV A, B ( register B के content को register A में copy करना).
MOV A, C (रजिस्टर C के content को रजिस्टर A में copy करना).
INR A (रजिस्टर A के content को एक से increment करना).

  1. Direct addressing mode

इस mode में, जिस data को operate करना होता है वह memory location के अंदर उपलब्ध रहता है. और इस memory location को हम सीधे ही data की तरह specify करते है.

दूसरे शब्दों में कहें तो, “ इसमें data को direct ही दिए गये address से register में copy कर लेते है.”

उदाहरण:-

LDB 5000K; (इसका मतलब है- 5000K एड्रेस में उपस्थित data को register B में copy करना).

  1. Register indirect addressing mode

इस एड्रेसिंग मोड में, operand के एड्रेस (जहाँ data स्थित होता है) को register pairs के द्वारा specify किया जाता है.

उदाहरण:-
MOV K, B: – (इसका मतलब है register के द्वारा point किये गये memory address से data, रजिस्टर K में transfer होता है.)

  1. Implied/Implicit addressing modes

इस एड्रेसिंग मोड में, इस mode में operand छुपा हुआ होता है. और operate किया जाने वाला data इंस्ट्रक्शन के अंदर ही होता है.

CMA, RAR और RAL आदि इसके examples हैं.

निवेदन:- मुझे आशा है कि addressing modes in hindi का यह article आपके लिए उपयोगी रहा होगा. इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी microprocessor 8085 ko lekar koi questions है उन्हें comment करके जरुर पूछिए. धन्यवाद.

6 thoughts on “Addressing Modes in Hindi – एड्रेसिंग मोड क्या है? – 8085”

Leave a Comment