Virtualization in Cloud Computing in Hindi – वर्चुअलाइजेशन क्या है?

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस आर्टिकल में (Virtualization in Cloud Computing in Hindi – वर्चुअलाइजेशन क्या है?) के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

Virtualization in Cloud Computing in Hindi – वर्चुअलाइजेशन क्या है?

क्लाउड कम्प्यूटिंग में, Virtualization एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा चीजों का virtual version बनाया जाता है। इसमें कंप्यूटर, सर्वर, ऑपरेटिंग सिस्टम और स्टोरेज डिवाइस आदि का वर्चुअल वर्जन बनाया जाता है।

दूसरे शब्दों में कहें तो, “क्लाउड कंप्यूटिंग में virtualization एक प्रकार की तकनीक है जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर हार्डवेयर जैसी चीज़ो का virtual version बनाने के लिए किया जाता है।”

इस तकनीक का उपयोग करके यूजर बहुत सारें ऑपरेटिंग सिस्टम और एप्लीकेशन को एक ही समय पर कंप्यूटर में रन कर सकता है। यह तकनीक एक समय पर कई यूजर और organization को resources को शेयर करने में मदद करती है।

इस तकनीक का इस्तेमाल कंप्यूटर के वातावरण (environment) को फिजिकल इंफ्रास्ट्रक्चर से अलग करने के लिए भी किया जाता है ताकि यूजर एक ही समय पर कई एप्लीकेशन को एक साथ रन कर सके।

यह तकनीक IT (इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी) में लगने वाली लागत को कम करती है और बिज़नेस को लचीलापन (flexiblity) और utilization प्रदान करती है।

Virtualization को हम एक प्रक्रिया भी कह सकते है जिसमे डेस्कटॉप, ऑपरेटिंग सिस्टम, नेटवर्क संसाधन या सर्वर के वर्चुअल वर्शन बनाए जाते है।

यह क्लाउड कंप्यूटिंग में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इस तकनीक का अविष्कार मेनफ्रेम के युग (era) में किया गया था समय के साथ साथ यह और एडवांस तकनीक बन गई।

यह तकनीक एक ऐसा वातावरण प्रदान करती है जो logically रूप से हार्डवेयर से अलग होता है।

जिस मशीन में वर्चुअल मशीनो को बनाया जाता है उसे हम host machine कहते है। वर्चुअल मशीन को guest machine के नाम से भी जाना जाता है। इस मशीन को सॉफ्टवेयर या फर्मवेयर (firmware) के द्वारा मैनेज किया जाता है।

virtualization in cloud computing in hindi

Types of Virtualization in Hindi – वर्चुअलाइजेशन के प्रकार

इसके निम्नलिखित प्रकार होते है जिन्हे निचे समझाया गया है:-

1- Hardware Virtualization

हार्डवेयर वर्चुअलाइजेशन एक प्रकार का सिस्टम होता है जिसकी मदद से हम अलग अलग प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम को install कर सकते है और ऑपरेटिंग सिस्टम पर अलग अलग प्रकार के एप्लीकेशन को run कर सकते है।

सरल शब्दो में कहे तो hardware virtualization एक ऐसी विधि है जिसमे फिजिकल डेस्कटॉप और ऑपरेटिंग सिस्टम के virtual version बनाए जाते है।

ऐसा करने के लिए यह VMM (वर्चुअल मशीन मैनेजर) का उपयोग करता है। इस विधि में VMM (वर्चुअल मशीन मैनेजर) को हार्डवेयर सिस्टम पर स्थापित (establish) किया जाता है।

इसकी performance काफी अच्छी होती है और कम लागत में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

इस विधि में hypervisor नाम के सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता है जिसका इस्तेमाल फिजिकल हार्डवेयर के कॉम्पोनेन्ट को मैनेज करने के लिए किया जाता है।

हार्डवेयर वर्चुअलाइजेशन में फिजिकल सर्वर की तुलना में virtual machine को कण्ट्रोल करना आसान होता है।

2- Application Virtualization

Application virtualization एक प्रकार का सिस्टम है जिसका उपयोग करके यूजर सर्वर से ही किसी भी एप्लीकेशन को एक्सेस कर सकता है।

इस सिस्टम में सर्वर पर्सनल इनफार्मेशन और एप्लीकेशन की विशेषताओ को स्टोर करता है। इसे इंटरनेट के माध्यम से लोकल वर्कस्टेशन में रन किया जा सकता है।

इसे सर्वर के माध्यम से स्थापित (establish) किया जा सकता है। एप्लीकेशन वर्चुअलाइजेशन का उपयोग करके यूजर एक ही सॉफ्टवेयर के दो अलग अलग वर्शन को चला सकता है।

यह एप्लीकेशन को install करते वक़्त आने वाली समस्याओं को रोकने का काम करता है। इस सिस्टम को packaged software या hosted application के माध्यम से लांच किया गया है।

3- Operating System Virtualization

यह एक प्रकार का सिस्टम है जिसमे वर्चुअल मशीन सॉफ़्टवेयर और वर्चुअल मशीन मैनेजर (VMM) को ऑपरेटिंग सिस्टम में स्थापित (establish) किया जाता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम virtualization का इस्तेमाल अलग अलग प्लेटफार्म पर एप्लीकेशन को test करने के लिए किया जाता है जिससे इस बात का पता चलता की एप्लीकेशन सही तरीके से काम कर रहा है या नहीं।

इसके अलावा इसका इस्तेमाल अलग अलग सर्वर पर services को ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है। यह सिस्टम हार्डवेयर संसाधनों को सुरक्षा प्रदान करता है और हैकर्स से इन संसाधनों को protect करता है।

4- Storage Virtualization

Storage virtualization एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे कई नेटवर्क स्टोरेज डिवाइस को आपस में combine कर दिया जाता है और इसे एक फिजिकल ग्रुप में कन्वर्ट कर दिया जाता है जिससे यह एक सिंगल स्टोरेज डिवाइस बन जाता है।

इसे एक सेंट्रल डिवाइस के माध्यम से मैनेज किया जाता है। इसका इस्तेमाल virtualization डेटा का बैकअप लेने के लिए और डेटा को रिकवर करने के लिए किया जाता है।

स्टोरेज वर्चुअलाइजेशन की performance काफी अच्छी होती है और कम समय में अपने कार्य को पूरा कर लेता है। यह flexible और सुरक्षित होता है।

5-Server Virtualization

Server virtualization एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे वर्चुअल मशीन सॉफ्टवेयर और वर्चुअल मशीन मैनेजर (VMM) सीधे कंप्यूटर पर स्थापित (establish) होते है।

इस प्रक्रिया में एक फिजिकल सर्वर को कई virtual server में बाट दिया जाता है जिसे हम वर्चुअल प्राइवेट सर्वर भी कहते है। इसमें प्रत्येक कंप्यूटर सिस्टम खुद के ऑपरेटिंग सिस्टम को अपने तरीके से ऑपरेट या रन कर सकते है।

सर्वर वर्चुअलाइजेशन संसाधन (resource) के उपयोग को बढ़ाता है और IT (इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी) इंफ्रास्ट्रक्चर में लगने वाली लागत को कम करता है।

इसमें सर्वर की छमता अधिक होती है और यह सर्वर की समस्याओ को दूर करता है। इसका इस्तेमाल एप्लीकेशन की performance को बढ़ाने के लिए किया जाता है।

सर्वर वर्चुअलाइजेशन virtual migration के लिए एक अच्छे माने जाते है क्योकि यह इंफ्रास्ट्रक्चर की लागत को कम करने के साथ साथ energy की खपत को कम करता है।

6-Desktop Virtualization

Desktop virtualization एक प्रकार की तकनीक है जो यूजर को कनेक्टेड डिवाइस से डेस्कटॉप तक पहुंचने में मदद करती है। यह तकनीक पूरी तरह से application virtualization पर निर्भर होती है।

इस तकनीक का उपयोग करके यूजर किसी भी स्थान से डेस्कटॉप को एक्सेस कर सकता है। यह तकनीक सॉफ्टवेयर इंस्टालेशन को मैनेज और अपडेट करने में मदद करती है।

7- Data Virtualization

यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे डेटा को विभिन्न sources से कलेक्ट किया जाता है। data virtualization का इस्तेमाल डेटा इंटीग्रेशन, बिजनेस इंटेलिजेंस और क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में किया जाता है।

इसके अलावा इसका इस्तेमाल organization के डेटा को सर्च करने के लिए किया जाता है। यह यूजर के डेटा को सुरक्षित रखता है और डेटा को स्टोर करता है।

इसकी मदद से यूजर फ्रेंडली इंटरफ़ेस को डिज़ाइन किया जा सकता है। इसे ऑपरेट करना आसान है और यह काफी तेज गति से कार्य करता है।

8- Network Virtualization

Network virtualization एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे virtual network को बनाया जाता है। इसका इस्तेमाल ट्रैफिक को कण्ट्रोल करने के लिए किया जाता है।

इसके अलावा इसका इस्तेमाल virtual network में संसाधनों के शेयर करने के लिए किया जाता है। इसे अलग अलग parties के द्वारा मैनेज किया जाता है। इसकी performance अच्छी होती है लेकिन यह काफी जटील (complex) होता है।

Advantages of Virtualization in cloud computing in Hindi – वर्चुअलाइजेशन के फायदे

1- वर्चुअलाइजेशन क्लाउड कंप्यूटिंग की productivity (उत्पादकता) को बढ़ाता है।

2- यह efficiency (क्षमता) को बढ़ाने में मदद करता है।

3- यह सस्ते होते है।

4- virtualization वर्क लोड को कम करता है।

5- यह energy (ऊर्जा) की बचत करता है।

6- यह डिजिटल entrepreneurship (उद्यमिता) को प्रमोट करता है।

Disadvantages of Virtualization in Hindi – वर्चुअलाइजेशन के नुकसान

1- इसमें सुरक्षा की कमी देखने को मिलती है।

2- यह scalable नहीं है।

3- यह किसी कार्य को करने में ज्यादा समय लगाते है।

4- इसमें कुछ सीमाएं (limitation) होती है।

5- इसको implement (लागू) करने में ज्यादा खर्चा होता है।

क्लाउड कम्प्यूटिंग में Virtualization का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

क्लाउड कंप्यूटिंग में virtualization बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। क्लाउड कंप्यूटिंग में यूजर क्लाउड में मौजूद डेटा या एप्लीकेशन को शेयर करते है।
virtualization के कारण यूजर क्लाउड कंप्यूटिंग में इंफ्रास्ट्रक्चर को शेयर कर सकता है। यह क्लाउड यूजर को स्टैंडरेड वर्शन के साथ एक एप्लीकेशन प्रदान करता है।

यदि यूजर ने एप्लीकेशन का अगला वर्जन जारी किया है तब क्लाउड प्रोवाइडर यूजर को अपने क्लाउड का नया वर्जन प्रदान करेगा जो काफी महगा साबित हो सकता है। इसी समस्या को दूर करने के लिए virtualization तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है।

Exam में पूछे जाने वाले प्रश्न

वर्चुअलाइजेशन क्या है?

Virtualization एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा चीजों का virtual version बनाया जाता है। इसमें कंप्यूटर, सर्वर, ऑपरेटिंग सिस्टम और स्टोरेज डिवाइस आदि का वर्चुअल वर्जन बनाया जाता है.

virtualization का क्या फायदा है?

वर्चुअलाइजेशन क्लाउड कंप्यूटिंग की productivity (उत्पादकता) को बढ़ाता है।

Reference:https://www.javatpoint.com/virtualization-in-cloud-computing

निवेदन:- अगर आपके लिए (Virtualization in Cloud Computing in Hindi – वर्चुअलाइजेशन क्या है?) का यह पोस्ट उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी questions हो उन्हें नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

Leave a Comment