Proprietary Software in Hindi – प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर क्या है?

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस पोस्ट में Proprietary Software in Hindi (प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर क्या है?) के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

Proprietary Software in Hindi – प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर क्या है?

  • Proprietary software वह सॉफ्टवेयर होता है जिसका इस्तेमाल हम free में नहीं कर सकते. इसका इस्तेमाल करने के लिए हमें इस सॉफ्टवेयर को इसके owner (मालिक) से खरीदना पड़ता है.

  • Proprietary software पर इसके owner का copyright होता है अर्थात हम इस सॉफ्टवेयर के code को ना तो बदल सकते है, ना ही distribute (वितरित) और copy कर सकते हैं. आसान शब्दो कहे तो यह एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जिसे केवल वही व्यक्ति मॉडिफाई कर सकता है जिसने इस सॉफ्टवेयर को बनाया होगा।

  • यह एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर है जिनके सोर्स कोड को सभी व्यक्ति नहीं देख सकते है। दुसरे शब्दो में कहे तो Proprietary software एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो copyrighted होते है।

  • इस सॉफ्टवेयर को Closed Source Software, Non-free Software, और Commercial Software के नाम से भी जाना जाता है.

  • इस सॉफ्टवेयर को मेन्टेन करके रखने के लिए commercial support उपलब्ध है। यह सॉफ्टवेयर proprietary protocols पर आधारित होते है।

  • इन सॉफ्टवेयर को अन्य यूजर के साथ शेयर नहीं किया जा सकता है। इसमें, जिस व्यक्ति के पास Proprietary software का लाइसेंस होता है वही इसका असली मालीक होता है। कोई बाहरी व्यक्ति इनका मालिक नहीं बन सकते।

  • यह सॉफ्टवेयर कॉपीराइट कानून पर आधारित होते है जिसमे सॉफ्टवेयर को मॉडिफाई , या एडिट करने का अधिकार केवल कंपनी के पास होता है जिसने इन्हे बनाया है।

  • इसके सोर्स कोड को छुपा के रखा जाता है जिसके कारण हैकर इसके कोड को नहीं देख पाते। इस सॉफ्टवेयर का उपयोग करने वाले लोगो की संख्या बहुत ही कम होती है क्योकि इसमें लाइसेंस की आवश्यकता पड़ती है।

  • Proprietary software के कुछ लोकप्रिय उदहारण :- macOS, Adobe Suite, Microsoft Windows, और photoshop आदि हैं।

Advantages of Proprietary Software in Hindi – प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर के फायदे

1- Stability (स्थिरता)  – यह सॉफ्टवेयर काम करने में stable (स्थिर) होते है जिसके कारण जल्दी crash नहीं होते।

2- Revenue (पैसा) – यह डेवेलपर्स या कंपनी के लिए revenue (पैसे) का एक बड़ा सोर्स होता है क्योकि यूजर को इस सॉफ्टवेयर का उपयोग करने के लिए पैसे देने पड़ते है।

3- Customer Service (ग्राहक सेवा)- इसमें कस्टमर सर्विस उपलब्ध है। यूजर की समस्याओ को हल करने के लिए कस्टमर सपोर्ट उपलब्ध है।

4- User interface (यूजर इंटरफ़ेस) – यह सॉफ्टवेयर यूजर फ्रेंडली या इनका इंटरफ़ेस यूजर फ्रेंडली होता है जिसके कारण इनका इस्तेमाल करना सरल हो जाता है।

5- Security (सुरक्षा) –  क्योकि यह सॉफ्टवेयर क्लोज सोर्स सॉफ्टवेयर होते है जिनके सोर्स कोड को हैकर या कोई बाहरी व्यक्ति नहीं देख सकता। यही कारण है की ये सॉफ्टवेयर अधिक सुरक्षित होते है।

6- User Permission (यूजर आज्ञा) – यूजर की परमिशन के बिना कोई दूसरा व्यक्ति इन सॉफ्टवेयर को शेयर नहीं कर सकता।

Disadvantages of Proprietary Software in Hindi – प्रोपराइटरी सॉफ्टवेयर के नुकसान

1- Expensive (महंगा) – यह सॉफ्टवेयर काफी महंगे होते है जिनका उपयोग करने के लिए यूजर को पैसा देना पड़ता है।

2- Modify (बदलाव) – इन्हे केवल उसी व्यक्ति या कंपनी के द्वारा मॉडिफाई किया जा सकता है जिसने इन सॉफ्टवेयर को develop किया होगा।

3- No share – इन सॉफ्टवेयर को शेयर करना कठिन होता है।

4- Limited User (सीमित यूजर) – यह सॉफ्टवेयर अधिक लोकप्रिय नहीं होते है जिनका उपयोग बहुत कम लोगो के द्वारा किया जाता है।

Proprietary software के उदहारण:-

  1. Microsoft Windows (माइक्रोसॉफ्ट विंडोज)
  2. Photoshop (फोटोशॉप)
  3. Norton (नॉर्टन)
  4. Bitdefender (बिटडिफेंडर)
  5. McAfee (एमकैफ़ी)
  6. Keeper  (कीपर)
  7. LastPass (लास्टपास)
  8. AssetCloud (एसेटक्लाउड)
  9. AssetManage (एसेटमैनेज)
  10. RemotePC (रिमोटपीसी)
  11. ZohoAssist (जोहोअसिस्ट)

Open source Software और Proprietary Software के बीच अंतर (difference)

Open source SoftwareProprietary Software
इसका इस्तेमाल कोई भी free (मुफ्त) में कर सकता है.इसको इस्तेमाल करने के लिए पैसे देने पड़ते है.
इसको यूजर अपनी जरूरत के अनुसार modify कर सकता है.इसको यूजर modify नहीं कर सकता इसे केवल इसका owner ही modify कर सकता है.
यह सॉफ्टवेयर public होते है.ये सॉफ्टवेयर protected होते है.
इसको किसी भी कंप्यूटर में install किया जा सकता है.इसको बिना लाइसेंस के किसी भी कंप्यूटर में install नहीं किया जा सकता है.
इसे बहुत सारें users के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है.इसे बहुत कम लोगों के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है.
इसके उदाहरण हैं:- Android, Linux, Firefox, Open Office, GIMP, और VLC Media player आदिइसके उदाहरण हैं – Windows, macOS, Internet Explorer, Google Earth, Microsoft Office, Adobe Flash Player, और Skype आदि.
Proprietary Software को और किस नाम से जानते हैं?

इसे Closed Source Software, Non-free Software, और Commercial Software के नाम से जाना जाता है.

Proprietary Software के उदाहरण क्या है?

इसके उदाहरण Microsoft Windows, Adobe Flash Player, PS3 OS, Orbis OS, iTunes, और Adobe Photoshop हैं.

proprietary software in hindi

निवेदन:- अगर आपके लिए What is Proprietary Software in Hindi का यह आर्टिकल उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी questions हो उन्हें नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

Leave a Comment