ट्री टोपोलॉजी क्या है? – Star Topology in Hindi

हेल्लो दोस्तों! आज हम इस आर्टिकल में Tree Topology in Hindi (ट्री टोपोलॉजी क्या है और इसके फायदे) के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

Tree Topology in Hindi – ट्री टोपोलॉजी क्या है?

tree-topology-in-hindi

ट्री टोपोलॉजी एक नेटवर्क टोपोलॉजी है जिसका स्ट्रक्चर पेड़ (tree) की तरह होता है। इस टोपोलॉजी में सभी devices पेड़ (tree) की शाखाओ (branches) से जुड़े होते है।

इस टोपोलॉजी का उपयोग corporate networks में databases और workstations में डेटा को arrange करने के लिए किया जाता है।

यह टोपोलॉजी bus और star topology का combination है जिसमे सभी nodes एक central node की मदद से जुड़े होते है। इस टोपोलॉजी में बस और स्टार दोनों टोपोलॉजी के फीचर्स शामिल होते है।

tree topology को hierarchical topology के नाम से भी जाना जाता है जिसका उपयोग WAN (Wide Area Network) में किया जाता है।

इस टोपोलॉजी में यदि किसी कारण primary node खराब हो जाते है तो अन्य सभी nodes खराब हो जायेंगे जिसकी वजह से पूरा कनेक्शन disconnect हो जाता है।

इस टोपोलॉजी में दो devices के बीच एक ही कनेक्शन को स्थापित (established) किया जा सकता है।

इस टोपोलॉजी में सबसे ऊपर वाले कंप्यूटर को root computer कहा जाता है, और अन्य सभी computers रूट डिवाइस के child (बच्चे) होते हैं।

यह टोपोलॉजी नेटवर्क को कण्ट्रोल करने के लिए simple software का उपयोग करती है। इस टोपोलॉजी को verticle network के नाम से भी जाना जाता है।

Features of Tree Topology in Hindi – ट्री टोपोलॉजी की विशेषताएँ

1- इस टोपोलॉजी में यदि कोई नेटवर्क खराब हो जाता है तो पूरा नेटवर्क खराब नहीं होता।

2- इस टोपोलॉजी में Switch और Intelligent Hub का उपयोग किया जाता है जिसकी वजह से इसकी performance अच्छी होती है।

3- इस टोपोलॉजी की performance LAN (लोकल एरिया नेटवर्क) के लिए अच्छी होती है।

4- यह टोपोलॉजी सुरक्षित (secure) होते है।

5- इस टोपोलॉजी में additional devices को जोड़ने के लिए स्टार नेटवर्क को extend करना पड़ता है।

6- यह टोपोलॉजी flexible है।

Types of Tree Topology in Hindi – ट्री टोपोलॉजी के प्रकार

इसके तीन प्रकार होते है :-

types of tree topology

1- Bus Tree Topology

इस टोपोलॉजी में Backbone Cable होती है जो नेटवर्क में संचार करने में मदद करती है। इस टोपोलॉजी में Hubs और Switches जैसे सेंट्रल डिवाइस होते है जिन्हे devices में कनेक्ट किया जाता है।

इस टोपोलॉजी में प्रत्येक डिवाइस backbone cable से जुड़ा होता है।

2- Spanning Tree Topology

इस टोपोलॉजी का उपयोग ग्राफ के सभी नोड्स को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है। इस टोपोलॉजी में क्लस्टर को डिवाइस से जोड़ने के लिए backbone cable का उपयोग किया जाता है।

3- Cluster Tree Topology

यह एक स्पेशल ट्री टोपोलॉजी है जिसमे parent-child connection मौजूद होता है।

Advantages of Tree Topology in Hindi – ट्री टोपोलॉजी के फायदे

1- ट्री टोपोलॉजी में नेटवर्क को manage करना आसान है।

2- इस टोपोलॉजी में error को detect और correct करना आसान है।

3- इस टोपोलॉजी को expand करना आसान है।

4- यह टोपोलॉजी सुरक्षित (secure) है।

5- यह टोपोलॉजी reliable है।

6- इस टोपोलॉजी में , यदि एक डिवाइस ख़राब हो जाता है तो उसका प्रभाव पुरे नेटवर्क पर नहीं पड़ता।

7- बस टोपोलॉजी की तुलना में इसकी performance अच्छी है।

Disadvantages of Tree Topology in Hindi – ट्री टोपोलॉजी के नुकसान

1- इस टोपोलॉजी के setup में ज्यादा खर्चा आता है।

2- इस टोपोलॉजी में नेटवर्क को configure करना मुश्किल है।

3- इस टोपोलॉजी में devices को कनेक्ट करने के लिए अधिक मात्रा में केबल का उपयोग किया जाता है .

4- इस टोपोलॉजी में यदि किसी डिवाइस में कोई समस्या आती है तो उसे solve करना काफी मुश्किल होता है।

5- इस टोपोलॉजी में नेटवर्क बनाने के लिए बस और स्टार टोपोलॉजी के devices की ज़रूरत पड़ती है।

Difference between tree & Mesh topology – ट्री और मेष टोपोलॉजी में अंतर्

Tree TopologyMesh Topology
ट्री टोपोलॉजी का दूसरा नाम hierarchical topology है।मेष टोपोलॉजी का दूसरा नाम mesh network है।
इस टोपोलॉजी में डेटा को loop वाली branching cable की मदद से transmit किया जाता है।इस टोपोलॉजी में डेटा को routing और flooding जैसी तकनीक का उपयोग करके transmit किया जाता है।
mesh topology की तुलना में इसमें कम केबल का उपयोग किया जाता है।इस टोपोलॉजी में अधिक मात्रा में केबल का उपयोग किया जाता है।
यह कम सुरक्षित होती है।यह ज्यादा सुरक्षित होती है।
इस टोपोलॉजी के setup में कम खर्चा आता है।इस टोपोलॉजी के setup में ज्यादा खर्चा आता है।
इस टोपोलॉजी में nodes को एक पेड़ के स्ट्रक्चर में कनेक्ट किया जाता है।इस टोपोलॉजी में node को dedicated link की मदद से कनेक्ट किया जाता है।

Exam में पूछे जाने वाले प्रश्न

1- ट्री टोपोलॉजी किसे कहते है?

ट्री टोपोलॉजी एक नेटवर्क टोपोलॉजी है जिसका स्ट्रक्चर पेड़ (tree) की तरह होता है।

2- ट्री टोपोलॉजी कितने प्रकार की होती है?

ट्री टोपोलॉजी तीन प्रकार की होती है :- bus tree topology , spanning tree topology और cluster tree topology .

Reference:https://www.computerhope.com/jargon/t/treetopo.htm

निवेदन:- अगर आपके लिए Tree Topology in Hindi (ट्री टोपोलॉजी क्या है और इसके फायदे) का यह पोस्ट उपयोगी रहा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य share कीजिये. और आपके जो भी questions हो उन्हें नीचे comment करके बताइए. धन्यवाद.

Leave a Comment